देशव्यापी शिकायत, ईवीएम की अदला-बदली और छेड़छाड़ की खबर के बीच मतगणना कल, कल सुबह 8 बजे से शुरु होगी वोटों की गिनती

लोकसभा चुनाव 2019 के तहत देश भर में 542 संसदीय सीटों के लिए डाले गए मतों की गिनती बृहस्पतिवार को सुबह आठ बजे शुरू होगी। 542 सीटों पर 8,000 से अधिक प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

किसके सिर सजेगा जीत का सेहरा, कौन होगा निराश। इसका फैसला अब बस कुछ घंटो के बाद हो जाएगा। लोकसभा चुनाव की मतगणना गुरुवार को सुबह आठ बजे से शुरू हो जाएगी। 11 बजते-बजते तस्वीर साफ हो जाएगी कि किसके सिर सेहरा सजने वाला है। ईवीएम के खुलने के साथ ही देश के करोड़ों मतदाताओं के फैसले से तमाम जनप्रतिनिधियों के भाग्य का निर्णय हो जाएगा।

एक महीने से अधिक समय तक चली मतदान प्रक्रिया में जहां करोड़ों नागरिकों ने उत्साह के साथ भाग लिया, वहीं मतदान में लगे अधिकारियों, कर्मचारियों और सुरक्षाबलों ने इसे संपन्न कराने में अपना योगदान दिया। पिछले लोकसभा चुनाव के मुकाबले इस बार 8.4 करोड़ अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया

लोकसभा चुनाव 2019 के तहत देश भर में 542 संसदीय सीटों के लिए डाले गए मतों की गिनती बृहस्पतिवार को सुबह आठ बजे शुरू होगी। 542 सीटों पर 8,000 से अधिक प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। सात चरणों में हुए मतदान में 90.99 करोड़ मतदाताओं में से करीब 67.11 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। भारतीय संसदीय चुनाव में यह सबसे अधिक मतदान है।

पिछले आम चुनाव में 81.5 करोड़ मतदाताओं के लिए नौ लाख मतदान केंद्र बनाये गए थे और कम-से-कम 17 लाख वोटिंग मशीनों का इस्तेमाल हुआ था। इस दफा लगभग 8.4 करोड़ मतदाता बढ़े हैं और मतदान केंद्रों की संख्या में भी 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इस लोकसभा चुनाव में कई जगह से हिंसा की भी खबरें आई। सबसे ज्यादा हिसां की खबर पश्चिम बंगाल से आई। कुल मिलाकर यह आम चुनाव शांतिपूर्ण रहा।

2014 लोकसभा चुनाव में नौ चरणों में मतदान हुए थे, पर उसमें 35 दिन ही लगे थे। इस बार सात चरण थे और प्रक्रिया पूरी होने में 38 दिन का समय लगेगा। साल 2014 में सिर्फ आठ लोकसभा क्षेत्रों- लखनऊ, जाधवपुर, रायपुर, गांधीनगर, बंगलुरु दक्षिण, चेन्नई मध्य, पटना साहिब, मिजोरम- में ही वीवीपैट लगाये गये थे। नोटा के विकल्प को भी पहली बार 2014 में ही वोटिंग मशीन पर जोड़ा गया था।

लोकसभा चुनाव में पहली बार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के परिणामों का मिलान पेपर ट्रेल मशीनों से निकलने वाली पर्चियों से किया जाएगा। यह मिलान प्रति विधानसभा क्षेत्र में पांच मतदान केंद्रों में होगा। चुनाव आयोग ने अभी तक बृहस्पतिवार को होने वाली मतगणना के केन्द्रों की संख्या उपलब्ध नहीं कराई है। प्रक्रिया के मुताबिक, सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती की जाएगी।

कुल 543 लोकसभा सीटों में से 542 पर चुनाव हुए हैं। वेल्लोर लोकसभा सीट पर धन बल का अत्यधिक उपयोग किए जाने के आधार पर चुनाव आयोग ने चुनाव रद्द कर दिया था। इस सीट पर चुनाव के लिए नई तारीख का ऐलान नहीं हुआ है। चुनाव लड़ने वाले प्रमुख नेताओं में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कई केंद्रीय मंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह, बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह, एसपी के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव, शामिल हैं।

इस बार कई फिल्मी सितारे और क्रिकेटर भी चुनावी मैदान में हैं। बीजेपी ने सन्नी देओल, गौतम गंभीर, रवि किशन और दिनेशलाल यादव सहित कई सितारों को मैदान में उतारा है। वहीं कांग्रेस की तरफ से उर्मीला मातोंडकर भी चुनावी मैदान में हैं। वहीं अभिनेता प्रकाश राज भी चुनाव लड़ रहे हैं।

अतिंम चरण के चुनाव के दिन न्यूज चैनलों ने एग्जिट पोल भी दिखाए। लोग इन एग्जिट पोलों पर विश्वास नहीं कर पा रहे हैं। एग्जिट पोल ने लोगों में और संशय भर दिया है। वहीं कई पत्रकार और जानकार भी इस पर सवाल उठा रहे हैं। इसी बीच देश भर से ईवीएम से खेल करने की शिकायतें मिलती रही। ईवीएम को लेकर जगह जगह बवाल हुआ। कई जगह ईवीएम बिना सुरक्षा के प्राइवेट गाड़ियों में ले जाते पकड़ी गई। जिस पर विपक्ष ने हंगामा भी किया। कहीं खाली बक्से तो कहीं ईवीएम से भरे ट्रक भी पकड़े गए।

सोमवार देर रात ईवीएम बदलने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस और गठबंधन के प्रत्याशियों ने हंगामा किया। गाजीपुर में जिला प्रशासन और पुलिस से नोकझोंक के बाद गठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी धरने पर बैठ गए। मिर्जापुर में कांग्रेस प्रत्याशी ललितेश पति त्रिपाठी ने स्ट्रॉन्ग रूम में अतिरिक्त 300 ईवीएम रखने की बात कहकर ईवीएम बदलने का आरोप लगाए। तो वहीं बिहार में भी कई जगह पर ईवीएम की अदला बदली की कोशिश की खबरें आई।

ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की आशंका और एग्जिट पोल के आंकड़ों के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक ऑडियो जारी कर कार्यकर्ताओं से कहा कि आप लोग, अफवाहों और एग्जिट पोल से हिम्मत न हारें। वहीं एग्जिट पोल के अनुमानों को खारिज करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को संदेश दिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “अगले 24 घंटे महत्वपूर्ण हैं। सतर्क और चौकन्ना रहें। आप डरे नहीं। आप सत्य के लिए लड़ रहे हैं। फर्जी एग्जिट पोल के दुष्प्रचार से निराश न हो। खुद पर और कांग्रेस पार्टी पर विश्वास रखें, आपकी मेहनत बेकार नहीं जाएगी।”

वहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने ट्वीट किया कि मैं एग्जिट पोल के गॉसिप पर भरोसा नहीं करती। गेम प्लान यह है कि इस गॉसिप के जरिए ईवीएम से छेड़छाड़ की जाए या फिर हजारों ईवीएम को बदल दें। मैं सभी विपक्षी दलों से अपील करती हूं कि एकजुट रहें, मजबूत और हिम्मती रहें। हम इस लड़ाई को साथ मिलकर लड़ेंगे। सभी विपक्षी पार्टियों ने एग्जिट पोल के दावों को खारिज करते हुए स्ट्रॉन्ग रूम में रखे ईवीएम मशीन पर निगरानी रखने के लिए अपने कार्यकर्ताओं से अपील की। इन दलों को आशंका है कि ईवीएम से छेड़छाड़ की जा सकती है। विपक्ष का कहना है कि इस चुनाव में एनडीए की हार होगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia