तमिलनाडु: तंजावुर में वार्षिक उत्सव के दौरान हाई वोल्टेज तार की चपेट में आया मंदिर का रथ, 11 लोगों की मौत, 15 घायल

रथ के हाई वोल्टेज तार की चपेट में आने से 11 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। पुलिस के मुताबिक, हादसे में करीब 15 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तमिलनाडु के तंजावुर में मंदिर की वार्षिक रथयात्रा उत्सव के दौरान बड़ा हादसा हुआ है। रथ के हाई वोल्टेज तार की चपेट में आने से 11 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। पुलिस के मुताबिक, हादसे में करीब 15 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

तंजावुर पुलिस के अनुसार, यह हादसा कालिमेदू में अप्पार मंदिर के पास हुआ। मंदिर से रथयात्रा निकलने के बाद जब इसे मोड़ा जा रहा था, इसी दौरान ऊपर बिछे बिजली के तारों के जाल की वजह से रथ को आगे नहीं ले जाया जा सका। बताया जा रहा है कि जैसे ही रथ को पीछे किया गया, वह हाई-टेंशन लाइन की चपेट में आ गया और करंट पूरे रथ में दौड़ गया। मौके पर कोहराम मच गया। चारों तरफ चीखपुकार मच गई। हदसे में कुछ बच्चों की भी जान गई है।

हादसे में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हुए और उन्हें तंजावुर के ही मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। हादसे की दिल दहला देने वाली तस्वीरें सामने आई हैं। तस्वीरों में रथ को पूरी तरह से जलते हुए देखा गया। केस दर्ज करने के बाद फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।


तमिलनाडु सरकार ने पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान कर दिया है। मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, हादसे में मारे गए 11 लोगों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेहादसे पर दुख जताया है। उन्होंने कहा, “तमिलनाडु के तंजावुर में हुए हादसे से गहरा दुख हुआ। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मुझे उम्मीद है कि घायल लोग जल्द ठीक हो जाएंगे। हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 27 Apr 2022, 8:20 AM