नागालैंड में 'गलत पहचान' के कारण बड़ी घटना, सुरक्षाबलों के ऑपरेशन में 13 ग्रामीण और एक जवान की मौत

नागालैंड के मोन जिले में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में 'गलत पहचान' किए जाने के कारण कम से कम 13 लोग मारे गए (सभी कोयला खनिक) और एक सैनिक घायल हो गया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

नागालैंड के मोन जिले में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में 'गलत पहचान' किए जाने के कारण कम से कम 13 लोग मारे गए (सभी कोयला खनिक) और एक सैनिक घायल हो गया। सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी। कोन्याक होहो सहित विभिन्न नगा संगठनों के नेताओं ने दावा किया कि 'गलत पहचान' करने के कारण सुरक्षा बलों द्वारा उन पर की गई गोलीबारी में 13 नागरिक मारे गए और तिरु-ओटिंग रोड पर शनिवार शाम की घटना के बाद दो और लापता हो गए।

नागा संगठन के नेताओं के अनुसार, जिन्होंने पहचान जाहिर करने से इनकार कर दिया, 11 अन्य नागरिक घायल हो गए। यह घटना उस समय हुई जब दिहाड़ी मजदूर एक पिक-अप वैन में कोयला खदान से घर लौट रहे थे। ग्रामीणों ने कहा कि माना जाता है कि सुरक्षा कर्मियों ने पीड़ितों को नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड (खापलांग-युंग आंग) का सदस्य समझ लिया गया और उन पर गोलियां चला दीं।


गुस्साए स्थानीय लोगों ने सुरक्षा बलों पर हमला किया और उनके वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।
रक्षा सूत्रों ने कहा कि इस घटना में सुरक्षा बलों को गंभीर चोटें आई हैं, जिसमें एक सैनिक भी शामिल है, जिसकी मौत हो गई। सेना के एक संक्षिप्त बयान में कहा गया है कि उग्रवादियों की संभावित गतिविधि की विश्वसनीय खुफिया जानकारी के आधार पर मोन जिले के तहत तिरु के क्षेत्र में एक विशेष अभियान चलाने की योजना बनाई गई थी।

बयान में कहा गया, "घटना को लेकर गहरा खेद है। दुर्भाग्यपूर्ण लोगों की जान जाने के कारणों की उच्चतम स्तर पर जांच की जा रही है और कानून के अनुसार उचित कार्रवाई की जाएगी।"
नागालैंड पुलिस ने अभी तक घटना के बारे में ब्योरा नहीं दिया है। नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने विशेष जांच दल से उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।

"मोन के ओटिंग में नागरिकों की हत्या के लिए दुर्भाग्यपूर्ण घटना अत्यधिक निंदनीय है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य की कामना करता हूं।" मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, उच्चस्तरीय एसआईटी जांच करेगी और देश के कानून के अनुसार न्याय दिलाएगी। सभी वर्गो से शांति की अपील।


इससे पहले दिन में, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी हत्याओं की निंदा की। उन्होंने कहा, "मैं उन लोगों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं, जिन्होंने अपनी जान गंवाई है।" शाह ने कहा कि राज्य सरकार ने एक उच्च स्तरीय विशेष जांच दल का गठन किया है और वह शोक संतप्त परिवारों को न्याय सुनिश्चित करने के लिए इस घटना की गहन जांच करेगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 05 Dec 2021, 10:21 PM