हरियाणा में कोरोना वायरस के 14 मामले, सिनेमा, स्कूल, जिम, स्वीमिंग पूल, नाइट क्लब बंद

हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस के मद्देनजर सतर्कता बरतते हुए यह निर्णय लिया है। राज्य में कोरोना की रोकथाम के लिए समुचित प्रबंध किए जा रहे हैं। 31 मार्च 2020 तक सभी सिनेमा हॉल, स्कूल (परीक्षाओं को छोड़कर), जिम, स्वीमिंग पुल, नाइट क्लब बंद रहेंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हरियाणा में आगामी 31 मार्च 2020 तक सभी सिनेमा हॉल, स्कूल (परीक्षाओं को छोड़कर), जिम, स्वीमिंग पुल, नाइट क्लब बंद रहेंगे। इसके अलावा, राज्य में किसी सामाजिक, राजनैतिक, सांस्कृतिक, शैक्षणिक, खेल प्रतियोगिता और पारिवारिक कार्यक्रमों में 200 से अधिक संख्या में लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस के मद्देनजर सतर्कता बरतते हुए यह निर्णय लिया है। राज्य में कोरोना की रोकथाम के लिए समुचित प्रबंध किए जा रहे हैं।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर तथा स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की अध्यक्षता में सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक हुई। इस बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए, जिनमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कोरोना वायरस के संदिग्ध लोगों के उपचार और देखभाल से संबंधित उपकरणों के अलावा इस कार्य में लगे डॉक्टरों की सेफ्टी के लिए आवश्यक उपकरणों का प्रबंध करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा, “हरियाणा के सभी जिलों में कम से कम 100 आइसोलेशन बेड तथा नई दिल्ली के साथ लगते जिलो और बड़े शहरों में 100 से अधिक आइसोलेशन बेड तैयार करने के निर्देश दिए हैं।” उन्होंने प्रदेश के लोगों से अपील करते हुए कहा, “ऐहतियात के तौर पर नवरात्रों व अन्य उत्सव-मेलों की बजाय अपने घर पर ही पूजा-पाठ करने को तवज्जो दें ताकि भीड़-भाड़ से बचा जा सके।”

हालांकि मुख्यमंत्री ने उत्सव के स्थानों पर मेडिकल सुविधा और सफाई व्यवस्था रखने के निर्देश भी दिए है। स्वाथ्य मंत्री अनिल विज ने कहा, “सिविल सचिवालय, लघु सचिवालय और अन्य ज्यादा आवाजाही वाले स्थानों पर सैनेटाइजर उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए ताकि स्वच्छता से बीमारियों की संभावना से बचा जा सके।”

आयुष विभाग द्वारा लोगों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवा देने के लिए राज्य में सोमवार से 100 कैंप लगाए जाएंगे जिनमें दवा निशुल्क दी जाएगी। प्रदेश के सभी सिविल सर्जन को निर्देश दिए गए हैं कि वे प्राइवेट अस्पतालों से संपर्क रखें। कोरोना के संदिग्ध किसी भी मरीज की सरकार को तुरंत जानकारी दी जाए और आवश्यकता पड़ने पर उनके वेंटिलेटरों का उपयोग किया जा सकता है।

स्वाथ्य मंत्री ने कहा कि इस वायरस से निपटने के सभी इंतजाम किए गए हैं और सभी के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। बैठक में बताया गया कि राज्य सरकार ने कोरोना की रोकथाम के लिए पूरे प्रबंध किए हुए हैं। केंद्र सरकार ने भी हरियाणा सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की है। मीडिया प्लान भी बनाई गई है जिसके तहत प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक्स के अलावा मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री के संदेशों के माध्यम से प्रदेश के लोगों को बेवजह न डरने तथा सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। इस अवसर पर जानकारी दी गई कि सभी जिलों को नजदीक के मैडिकल कालेजों से अटैच किया गया है ताकि जरूरत पड़ने पर वहां वेंटिलेटर उपलब्ध करवाया जा सके।

राज्य में 298 वार्ड तथा 1328 आइसोलेशन बेड तैयार रखे गए हैं। बैठक में मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ाए राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री धनपत सिंह, चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक निगम, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा के अलावा हरियाणा सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारी तथा पीजीआईएमएस चंडीगढ़, पीजीआईएमएस रोहतक और हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय