तमिलनाडु में बारिश से तबाही! अब तक 15 लोगों की मौत की खबर, तिरुवनंतपुरम-कन्याकुमारी के बीच ट्रेन सेवाएं बाधित

दक्षिण रेलवे ने एक बयान में कहा कि शनिवार और रविवार के लिए दो ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है, जबकि दस अन्य को आंशिक रूप से रद्द कर दिया गया है और परिणामस्वरूप नागरकोइल और कन्याकुमारी में समाप्त होने वाली सभी ट्रेनों को अब तिरुवनंतपुरम मध्य रेलवे स्टेशन पर समाप्त कर दिया जाएगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

केरल राज्य की राजधानी और आसपास के तमिलनाडु जिलों में मूसलाधार बारिश के कारण रेल की पटरियां जलमग्न हो जाने के बाद शनिवार को तिरुवनंतपुरम और कन्याकुमारी के बीच ट्रेन सेवाएं बाधित हो गईं। शुक्रवार की रात से शुरू हुई झमाझम बारिश के कारण कुछ जगहों पर भूस्खलन भी हुआ। नागरकोइल और कन्याकुमारी के बीच रेलवे ट्रैक पर पानी भर जाने से दक्षिण रेलवे को इन स्थानों के बीच चलने वाली कुछ ट्रेनों को रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा है।

दक्षिण रेलवे ने एक बयान में कहा कि शनिवार और रविवार के लिए दो ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है, जबकि दस अन्य को आंशिक रूप से रद्द कर दिया गया है और परिणामस्वरूप नागरकोइल और कन्याकुमारी में समाप्त होने वाली सभी ट्रेनों को अब तिरुवनंतपुरम मध्य रेलवे स्टेशन पर समाप्त कर दिया जाएगा। रिपोर्ट्स के अनुसार, तमिलनाडु के जिलों की सीमा से लगे तिरुवनंतपुरम में दो स्थानों पर भूस्खलन से रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गए हैं। नागरकोइल-कन्याकुमारी सेक्टर के बीच की रेल पटरियां भी जलमग्न हो गई हैं।

तमिलनाडु में बारिश के कहर से अब तक 15 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। तमिलनाडु में पिछले एक हफ्ते से भारी बारिश जारी है। खासकर चेन्नई में बारिश का पानी घर, अस्पताल और स्कूलों में घुस आया है। बारिश का असर यह पड़ा है कि बड़ी संख्या में लोग बेघर हो गए हैं। पूरे तमिलनाडु में अब तक 15 हजार से ज्यादा लोगों को बचाया गया है, इन्हें 290 से अधिक राहत केंद्रों में रखा गया है। वहीं सिर्फ चेन्नई में ही 3,428 लोगों को बचाया है। राहत कार्य के लिए पूरे राज्य में तमिलनाडु पुलिस ने अपने 75,000 कर्मियों को तैनात किया है। इसके अलावा तटीय सुरक्षा समूह के 350 कर्मियों, 250 सदस्यीय विशेष बल व 364 होमगार्डों को भी राहत कार्य में लगाया गया है।

बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में निगम के अधिकारियों की ओर से 44 आश्रय स्थल बनाए गए हैं। यहां पर 2699 लोगों को आश्रय दिया गया है। पिछले छह दिनों में ही 28,64,400 खाने के पैकेट वितरित किए गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia