उत्तराखंड में गणतंत्र दिवस पर 175 कैदी होंगे रिहा, 26 कैदी लगभग 30 साल से अधिक अवधि से सजा में

इनमें से 26 कैदी लगभग 30 वर्षों से अधिक अवधि से सजा काट रहे हैं। 9 महिला कैदियों को भी समय पूर्व मुक्त किए जाने की अनुमति दी गई है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड सरकार गणतंत्र दिवस पर 175 कैदियों को रिहा करेगी। राजभवन की ओर से इसकी अनुमति मिल चुकी है। इसमें सबसे अधिक जिला कारागार हरिद्वार से 63 कैदी रिहा होंगे। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से.नि.) ने गणतंत्र दिवस पर राज्य के विभिन्न कारागारों में लंबी अवधि से सजाएं काट रहे कैदियों के समयपूर्व रिहाई के प्रस्ताव को अनुमति दे दी है। राज्य के गठन के बाद से यह पहला मौका होगा जब इतनी बड़ी संख्या में कैदियों को रिहा किया जाएगा। जिन कैदियों को रिहा किया जाएगा, उनमें एक पिछले 47 वर्षों से अधिक समय से सजा काट रहा है। 7 अन्य कैदी 40 वर्षों से अधिक अवधि से विभिन्न कारागारों में सजा काट रहे हैं।

इनमें से 26 कैदी लगभग 30 वर्षों से अधिक अवधि से सजा काट रहे हैं। 9 महिला कैदियों को भी समय पूर्व मुक्त किए जाने की अनुमति दी गई है। सम्पूर्णानन्द शिविर, सितारगंज से 27 कैदियों, केन्द्रीय कारागर ऊधमसिंहनगर से 52, जिला कारागार हरिद्वार से 63, जिला कारागार पौड़ी से एक, जिला कारागार चमोली से एक, केन्द्रीय कारागार बरेली उत्तर प्रदेश से 02, केन्द्रीय कारागार वाराणसी उत्तर प्रदेश से 01, केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ उत्तर प्रदेश से एक कैदी एवं 23 अन्य कैदियों को रिहा किया जाएगा। कैदियों को राज्यपाल ने दया एवं उनके अच्छे आचरण के आधार पर समय पूर्व मुक्त किए जाने की अनुमति दी है।

--आईएएनएस

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia