कोरोना वैक्सीनेशन: पहले दिन 1.91 लाख लोगों को टीका, साइड इफेक्ट के 52 मामले, महाराष्ट्र ने रोका अभियान

कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के पहले दिन आज पूरे देश में 1.91 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई गई, जबकि सरकार ने पहले दिन 3 लाख लोगों को टीका देने का लक्ष्य रखा था। वहीं दिल्ली और तेलंगाना में टीका लेने के बाद कुछ लोगों में प्रतिकुल प्रभाव देखा गया।

फोटोः ANI
फोटोः ANI
user

नवजीवन डेस्क

भारत में शनिवार की सुबह कोरोना वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत हो गई। दिन भर चले टीकाकरण के बाद शाम में स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि पहले दिन देश भर में 1.91 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन दी गई। हालांकि सरकार का वैक्सीनेशन अभियान के पहले दिन 3 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य था। इस हिसाब से सरकार पहले दिन का टारगेट पूरा करने में कामयाब नहीं रही।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में आज कोरोना वैक्सीनेशन के लिए 3,351 सेंटर बनाए गए थे, जहां 16,755 स्वास्थ्यकर्मियों की की ड्यूटी लगाई गई। मंत्रालय के मुताबिक, देशभर में 1.91 लाख से अधिक लाभार्थियों को टीका लगाया गया और टीकाकरण के बाद अब तक अस्पताल में भर्ती होने का कोई मामला सामने नहीं आया है।

हालांकि, देर शाम दिल्ली सरकार ने बयान जारी कर बताया कि दिल्ली में कुल 52 लोगों में कोरोना वैक्सीनेशन के बाद प्रतिकुल प्रभाव देखने को मिला। इनमें से एक शख्स में साइड इफेक्ट की गंभीरता को देखते हुए उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है। वहीं दिल्ली एम्स में एक सुरक्षा गार्ड को टीका लेने के बाद एलर्जी की शिकायत पर डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। दिल्ली के बाद तेलंगाना से भी कोरोना वैक्सीन लेने के बाद 11 लोगों में साइड इफेक्ट की खबर है। इन सब पर निगरानी रखी जा रही है।

इस बीच महाराष्ट्र सरकार ने 18 जनवरी तक कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को रोक दिया है। हालांकि, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि कोरोना ऐप (को-विन) के साथ तकनीकी दिक्कतों के कारण पूरे महाराष्ट्र में 18 जनवरी तक कोरोना टीकाकरण अस्थायी रूप से निलंबित किया गया है।

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव ने कहा कि पहले दिन टीकाकरण अभियान सफलतापूर्वक आयोजित किया गया। आंकड़ों के अनुसार, आंध्र प्रदेश में सबसे अधिक लाभार्थियों को टीका लगाया गया, उसके बाद बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और कर्नाटक में सबसे अधिक लोगों को वैक्सीन दी गई। दिल्ली में पहले दिन 3,403 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गई। केंद्र ने माना कि कुछ सेंटर पर कोविड वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (को-विन) एप्लिकेशन के साथ दिक्कत हुई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 16 Jan 2021, 11:58 PM
लोकप्रिय
next