दिल्ली: हॉर्न बजाने को लेकर शुरू हुई बहस, देखते ही देखते करीब 20 लोगों ने वकील और परिवार की कर दी पिटाई

FIR के मुताबिक 22 दिसंबर की रात करीब 11 बजे कौशिक और उनका परिवार कनॉट प्लेस से निकल रहे थे, तभी उनकी कार के हॉर्न बजाने को लेकर रोहित नाम के शख्स से बहस हो गई।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कनॉट प्लेस में कार के हॉर्न बजाने को लेकर हुई बहस के बाद करीब दो दर्जन लोगों ने महिलाओं समेत एक परिवार की पिटाई कर दी। FIR के मुताबिक 22 दिसंबर की रात करीब 11 बजे कौशिक और उनका परिवार कनॉट प्लेस से निकल रहे थे, तभी उनकी कार के हॉर्न बजाने को लेकर रोहित नाम के शख्स से बहस हो गई। स्थिति को शांत करने के कौशिक के प्रयासों के बावजूद, रोहित लड़ने लगा। उसने गालीगलौज की और कौशिक के छोटे भाइयों पर हमला किया।

स्थिति ने तब और गंभीर मोड़ ले लिया, जब रोहित ने 'ओडियन पानवाला' से और लोगों को बुलवाया। इस पर डंडों और छड़ों से लैस 15-20 लोग वहां पहुंचे और महिलाओं सहित कौशिक के परिवार पर हमला कर दिया। जब कौशिक की बहन ने अपने भाई को बचाने के लिए हस्तक्षेप किया, तब भी हमला जारी रहा। एफआईआर के मुताबिक,"जब मेरा भाई गिर गया और हमलावर उसे लाठियों से पीट रहे थे, तो मेरी बहन ने उसे बचाने के लिए हस्तक्षेप किया और मेरे भाई के ऊपर लेट गई। फिर भी हमलावर नहीं रुके और उन दोनों को पीटना जारी रखा। उन्होंने मेरी बहन का कॉलर पकड़ लिया और गालियां दीं।“


आरोप है कि कौशिक का चचेरा भाई पुलिस को बुलाने के लिए भागा, लेकिन एक कार में 3-4 हमलावरों ने उसका पीछा किया और अपहरण करने की कोशिश की। सौभाग्य से, वह भागने में सफल रहा और एक ऑटो में छिप गया। इस बीच, कौशिक ने पुलिस को फोन करने का प्रयास किया, लेकिन हमलावरों ने उसे छीन लिया, तोड़ दिया और लाठी-डंडों से उसे पीटते रहे, इससे उसकी नाक टूट गई। कौशिक की शिकायत के आधार पर कनॉट प्लेस पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;