उत्तर प्रदेश में बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से 35 लोगों की मौत, कई घायल, कई जगह मकान गिरे

उत्तर प्रदेश में रविवार शाम तेज आंधी और बारिश के दौरान बिजली गिरने से अलग-अलग इलाकों में 35 लोगों की मौत हो गई। सबसे ज्यादा प्रभावित बुंदेलखंड इलाका रहा, जहां 13 लोगों की मौत की सूचना है। इसके अलावा कानपुर शहर के घाटमपुर और फतेहपुर जिले में भी 7-7 लोगों की मौत की खबर है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में रविवार शाम मॉनसून की बारिश के दौरान कई इलाकों में आकाशीय बिजली ने कोहराम मचाया। राज्य के कई इलाकों में 24 लोगों की जान चली गई। कानपुर शहर के घाटमपुर क्षेत्र और फतेहपुर में सात-सात लोगों की जान गई, जबकि कानपुर देहात में एक किशोरी की मौत हो गई। इसके अलावा धान की रोपाई कर रहीं चार युवतियां भी झुलस गईं।

जानकारी के मुताबिक कानपुर शहर के घाटमपुर तहसील क्षेत्र में रविवार दोपहर बाद बारिश के दौरान बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आकर चार महिलाओं और तीन पुरुषों की मौत हो गई, जबकि छह लोग गंभीर रूप से झुलस गए। बिजली की चपेट में आए लोगों में खेतों में काम कर रहे थे।

इसके अलावा कानपुर देहात के गजनेर इलाके में बिजली गिरने से 15 साल की एक किशोरी की मौत हो गई। इसी इलाके में धान की रोपाई कर रहीं चार महिलाएं भी बिजली की चपेट में आकर झुलस गईं। इनमें से एक महिला की हालत गंभीर है। उधर, बुंदेलखंड के हमीरपुर में भी दोपहर बाद बारिश के साथ बिजली गिरने से खेतों में काम कर रहे तीन किसानों की जान चली गई, जबकि 16 मवेशी भी चपेट में आकर मर गए।

जालौन जिले में बिजली गिरने से दो किसान, एक मजदूर और एक महिला की मौत हो गई। चित्रकूट जिले के राजापुर व पहाड़ी क्षेत्र में देर शाम बारिश के बाद अचानक बिजली गिरने से सुरवल गांव में आठ साल के बच्चे की मौत हो गई, जबकि एक बारह साल का लड़का और उसका पिता झुलस गया। बांदा में बारिश संग बिजली गिरने से मरका थाना क्षेत्र में किसान की मौत हो गई। वहीं मध्य उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में भी दोपहर बाद बारिश के साथ बिजली गिरने से एक दादा-पोते समेत सात लोगों की जान चली गई, जबकि चार लोग झुलस गए।

इसके अलावा झांसी, जालौन और चित्रकूट जिलों में भी कई लोगों के आकाशीय बिजवी की चपेट में आने की खबर है। इन जिलों में कुछ लोगों की मौत मकान गिरने से भी हुई है।

लोकप्रिय