पश्चिम बंगाल: बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच खूनी झड़प, 4 की मौत , 3 घायल

बीजेपी के तीन कार्यकर्ताओं की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई, जब वह टीएमसी कार्यकर्ताओं को बीजेपी के झंडे हटाने से रोक रहे थे। इसके अलावा टीएमसी कार्यकर्ता कायुम मोल्लाह को भी बीजेपी कार्यकर्ताओं ने गोली मार दी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के खत्म होने के बाद भी हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। शनिवार शाम को बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच खूनी झड़प में 4 लोगों की मौत हो गयी है, जबकि 3 घायल हुए हैं। घटना पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले के नजत इलाके की है। दोनों ही पार्टी के सूत्रों ने झड़प के दौरान हुई मौतों का दावा किया है।

सूत्रों के मुताबिक इलाके से पार्टी का झंडा हटाने को लेकर दोनों पार्टी के लोगों में लड़ाई शुरू हुई थी, जो बाद में और भी ज्यादा हिंसक हो गयी। हालांकि बंगाल पुलिस ने इन मौतों पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। स्थिति को काबू में करने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस दल को घटनास्थल पर भेजा गया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

बीजेपी नेता सायंतन बसु के अनुसार उनकी पार्टी के तीन कार्यकर्ता (सुकांता मंडल, प्रदीप मंडल और शंकर मंडल) की टीएमसी कार्यताओं द्वारा उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई, जब वह टीएमसी कार्यकर्ताओं को बीजेपी के झंडे हटाने से रोक रहे थे।

बसु ने बताया, "हमें अपने तीन कार्यकर्ताओं का शव मिला है। हमने सुना है कि दो और कार्यकर्ताओं की भी मौत हो गई है लेकिन अभी उनके शव नहीं मिले हैं। वो हमारी पार्टी के झंडे और पोस्टर हटाने की कोशिश कर रहे थे, जब हमने विरोध किया तो हमारे कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई।"

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

इसके अलावा बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय का कहना है कि पार्टी इस घटना के बारे में केंद्रीय मंत्री अमित शाह को बताएगी। वहीं दूसरी तरफ टीएमसी ने भी अपने एक कार्यकर्ता के मारे जाने का दावा किया है। 24 परगना जिले के अध्यक्ष और मंत्री ज्योतिप्रियो मुल्लिक का कहना है कि उनकी "पार्टी के कार्यकर्ता कायुम मोल्लाह को भी बीजेपी कार्यकर्ताओं ने गोली मार दी है।"

लोकप्रिय