मुंबई में भारी बारिश से 4 की मौत, लगातार चौथे दिन बेहाल रही आर्थिक राजधानी

मायानगरी मुंबई में लगातार चार दिन से भारी बारिश से आम जनजीवन पूरी तरह पटरी से उतर गया है। भारी बारिश के कहर से अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं मुंबई की लाइफलाइन लोकल ट्रेन से लेकर सड़क यातायात बारिश से हुए जलजमाव के कारण प्रभावित हुआ है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

आईएएनएस

लगातार चौथे दिन बारिश के कारण सोमवार को मुंबई और इसके आसपास के क्षेत्रों में सामान्य जनजीवन प्रभावित रहा। अधिकारियों ने बताया कि भारी बारिश से मुंबई और आसपास के इलाकों में वायु, सड़क और रेल यातायात प्रभावित हुआ है। वहीं भारी बारिश की वजह से बिजली की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि आकाशीय बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई।

अधिकारियों ने बताया कि उत्तर-पूर्वी मुंबई में गोवंदी उपनगर के शिवाजी नगर स्थित एक घर में मोहम्मद अयूब काजी (30) की बिजली करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। उसे राजावड़ी हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। जबकि इससे पहले एक महिला सहित तीन अन्य की आकाशीय बिजली के चपेट में आने से मौत हो गई। इस घटना में दो अन्य लोग घायल हुए हैं। इन लोगों ने सोलापुर में सोमवार दोपहर बाद भारी बारिश से बचने के लिए एक शेड में शरण ली थी।

मंडरूप के पुलिस अधिकारी बाबूराव राठौड़ ने कहा कि पांचों पीड़ित मंडरूप गांव के पास एक शेड में बारिश के कम होने का इंतजार कर रहे थे, जब वे अचानक से आकाशीय बिजली के चपेट में आ गए। मारे गए तीन लोगों में पार्वती एम. कोरे (55), चतुरसिंह जे.राजपूत (41) और संकेत डी. (17) शामिल हैं। अन्य दो को तत्काल जिला अस्पताल पहुंचाया गया।

रात भर भारी बारिश होने के कारण पूरे मुंबई में कम से कम 137 जगह पूरी तरह से जलमग्न हो गए। इसमें दादर, सिओन, माटुंगा, परेल और वडाला, माहिम, सांताक्रूज, अंधेरी, जोगेश्वरी, मलाड, दहिसर जैसे प्रमुख इलाके शामिल हैं। जलजमाव की स्थिति से शहर में हर तरह का यातायात एक तरह से ठप हो गया, जिससे सुबह से ही शहर भर में भारी ट्रैफिक जाम लग गया।

बारिश के कारण सोमवार तड़के मध्य रेलवे के पश्चिमी घाट में मंकीहिल खंड में जामब्रुग और ठाकुरवाड़ी के बीच एक मालगाड़ी की कम से कम चार बोगियों के बेपटरी होने से मुंबई-पुणे सेक्टर की लंबी दूरी की ट्रेन सेवाएं प्रभावित हो गईं। इसके बाद मुंबई-पुणे मार्ग पर कई ट्रेनें रद्द कर दी गईं और कई का मार्ग बदलना पड़ा। कई लंबी दूरी की ट्रेनें बारिश की वजह से प्रभावित हुईं हैं। हालांकि मध्य रेलवे स्थिति सामान्य करने के लिए प्रयास कर रहा है।

वहीं लोकल की बात करें तो सिओन, माटुंगा और कुर्ला जैसे स्थानों पर रेलवे ट्रैक पूरी तरह डूब गए, जिससे मध्य रेलवे के उपनगरीय सेक्टर पर ट्रेन सेवा देरी से चली, जिससे छात्रों और ऑफिस जाने वालों को काफी मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। बारिश की वजह से मुंबई आने वाली कई उड़ानें भी प्रभावित हुईं। एक अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश और कम दृश्यता के कारण मुंबई के छत्रपति शिवाजी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा से आने-जाने वाली उड़ानों में 35 मिनट की देरी हुई।

भारतीय मौसम विभाग ने मंगलवार को भी मुंबई और इसके आसपास भारी बारिश की संभावना जताई है और अगले चार दिनों तक भी बारिश होने की संभावना जताई है। इस दौरान मायानगरी का अधिकतम तापमान 28 डिग्री से 23 डिग्री सेल्सियस तक रहने की उम्मीद है।

लोकप्रिय