भोपाल में हमीदिया अस्पताल कैंपस के चिल्ड्रन वार्ड में आग से 4 बच्चों की मौत, 40 बच्चे थे भर्ती

भोपाल के हमीदिया अस्पताल के चिल्ड्रन वार्ड में आग लगने से 4 बच्चों की मौत हो गई। आग अस्पताल की कमला नेहरू विंग की तीसरी मंजिल पर लगी थी जहां वार्ड में 40 बच्चे भर्ती थे। देर रात तक बच्चों के मां बाप को अस्पताल में जाने की इजाजत नहीं मिली थी।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भोपाल के हमीदिया अस्पताल में बीती रात करीब 9 बजे भीषण आग लग गई। आग अस्पताल की कमला नेहरू बिल्डिंग की तीसरी मंजिल पर स्थित पीडियाट्रिक विभाग में लगी। यहां चिल्ड्रन वार्ड में 40 बच्चे भर्ती थे, जिनमें सें 4 नवजात बच्चों की मौत हो गई। बताया गया है कि इनमें तीन की मौत दम घुटने से हुई है। दमकल विभाग ने करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद देर रात साढ़े 12 बजे के आसपास आग पर काबू पाया।

अस्पताल पहुंचे मध्य प्रदेश के मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि वार्ड में 40 बच्चे थे, जिनमें से 4 की मौत हो गई औरं 36 को सुरक्षित निकाल लिया गया।

सरकार ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं और इसकी जिम्मेदारी एसीएस को सौंपी है। वहीं मृतक बच्चों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का भी ऐलान किया गया है।

अस्पताल के सूत्रों का कहना है कि जिस चिल्ड्रन वार्ड में आग लगी है, उसे नई बिल्डिंग में शिफ्ट किए जाने की तैयारी थी। लेकिन उससे पहले ही यह हादसा हो गया। अस्पताल कर्मियों ने बताया कि जिस इमारत में आग लगी उसमें से कई मरीजों को स्ट्रेचर से बाहर निकालकर दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है।

हादसे के पीछे अलग-अलग वजह बताई जा रही है, लेकिन किसी भी कारण की पुष्टि नहीं हुई है। कुछ लोगों का कहना है कि आग शार्ट सर्किट के कारण लगी, वहीं कुछ ने सिलेंडर या वेंटिलेटर में ब्लास्ट होना कारण बताया है।


ध्यान रहे कि हमीदिया अस्पताल परिसर में ही 7 अक्टूबर को भी नई बिल्डिंग में दूसरी मंजिल पर ठेकेदार के स्टोर रूम में आग लग गई थी। फायर ब्रिगेड की 5 गाड़ियों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद इस पर काबू पाया था। उस हादसे में किसी जान का नुकसान नहीं हुआ था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia