5 राज्यों में बारिश-बाढ़ से जीना मुहाल, केरल के वायनाड का बुरा हाल, कल राहुल गांधी करेंगे संसदीय क्षेत्र का दौरा

केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र समेत 5 राज्यों में बारिश और बाढ़ का कहर जारी है। पिछले 72 घंटों में तीनों राज्यों में 93 जानें जा चुकी हैं। बाढ़ और बारिश से केरल में इस मॉनसून के दौरान 42 लोगों की मौत हो चुकी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

देश के 5 राज्य महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश और गुजरात बाढ़ से बेहाल हैं। सबसे पहले बात करते है केरल की। केरल में पिछले चार दिनों में 40 लोगों की मौत हो गई। वहीं एक लाख से ज्यादा लोगों ने राहत शिविरों में पनाह ली है। भारी बारिश और बाढ़ के चलते केरल सरकार ने शुक्रवार को स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी।

केरल के वायनाड और मलप्पुरम में सबसे ज्यादा तबाही है। सेना और एनडीआरएफ की टीमें लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी हैं। शनिवार सुबह आर्मी के दो जवानों ने एक नवजात को बाढ़ से बचाया। गोद में बच्चे को लेकर आते जवानों की तस्वीर सामने आई है। वहीं वायनाड के सांसद राहुल गांधी ने रविवार को अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा करेंगे।

कर्नाटक में शुक्रवार को बारिश से 10 मौतें हुई हैं। राज्य में बारिश और बाढ़ के चलते मौत का आंकड़ा 24 हो गया है। कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा ने बताया, “अब तक 24 की मौत हो चुकी है। बाढ़ के कारण 1024 गांव बुरी तरह प्रभावित हैं। 20 एनडीआरएफ टीमें, 10 आर्मी टीमें, 5 नेवी टीमें और 2 एसडीआरएफ टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए तैनात हैं।”

महाराष्ट्र में शुक्रवार को दो मौतें दर्ज की गईं। इससे पुणे डिविजन में मौत का आंकड़ा बढ़कर 29 हो गया है। महाराष्ट्र में अगले 24 घंटे काफी भारी हैं क्योंकि मौसम विभाग के अनुसार केरल और कर्नाटक की तरह ही महाराष्ट्र, गोवा, मध्य प्रदेश और राजस्थान में भारी से बहुत भारी बारिश का अनुमान है।

मध्य प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बीते तीन दिनों से जारी बारिश के चलते नदियों का जलस्तर बढ़ गया है, वहीं निचली बस्तियों में जल भराव होने से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। कई गांवों का अपने जिला मुख्यालयों से सड़क संपर्क टूट गया है। राज्य के बड़े हिस्से में तीन दिनों से सामान्य से भारी बारिश हो रही है। इसके चलते क्षिप्रा, ताप्ती, नर्मदा, बराना, बीना नदी सहित अन्य नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। उज्जैन में क्षिप्रा का जलस्तर काफी बढ़ गया है, और जनजीवन प्रभावित हो रहा है।

तमिलनाडु के कई जिलों में भी बारिश का प्रकोप जारी है। यहां बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित नीलगिरि जिले में राहत कार्यों के लिए भारतीय वायुसेना से मदद मांगी है।

लोकप्रिय