मेघालय की कोयला खदान में आई बाढ़, 6 मजदूरों के फंसे होने की आशंका

पुलिस ने स्थानीय लोगों के हवाले से कहा कि अचानक हुए विस्फोट के कारण उमलेंग एलाका सुतंगा में खदान में अचानक पानी आने लगा, जिससे कुछ ही देर में खदान में पानी भर गया और वहां मौजूज खनिक उसमें फंस गए। इलाके में बारिश के कारण तलाशी अभियान भी बाधित है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

मेघालय के पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले में बाढ़ में डूबी एक कोयला खदान में असम और त्रिपुरा के कम से कम छह खनिकों के फंसे होने की आशंका है। स्थानीय लोगों के मुताबिक, फंसे मजदूरों के बचने की संभावना बेहद कम है। शिलॉन्ग में पुलिस अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल से मदद मांगी है, जो स्थानीय लोगों के साथ मिलकर खनिकों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं, जिनमें से पांच असम के हैं और एक त्रिपुरा का है।

पुलिस ने स्थानीय लोगों के हवाले से कहा कि अचानक हुए विस्फोट के कारण उमलेंग एलाका सुतंगा में खदान में अचानक पानी आने लगा, जिससे कुछ ही देर में खदान में पानी भर गया और वहां मौजूज खनिक उसमें फंस गए। इलाके में बारिश के कारण तलाशी अभियान भी बाधित है।
पुलिस अब खदान के मालिक और मजदूरों के सरदार की तलाश कर रही है।


कछार के पुलिस अधीक्षक निंबालकर वैभव चंद्रकांत ने कहा कि उन्हें खदान में फंसे असम के कुछ मजदूरों के बारे में सूचना मिली है। उन्होंने मीडिया से कहा, "हमने पूर्वी जयंतिया हिल्स के पुलिस अधीक्षक के साथ सूचना साझा की है। हमें अभी तक कोई सूचना नहीं मिली है।"

बता दें कि इससे पहले इसी साल 21 जनवरी को पूर्वी जयंतिया पहाड़ियों में स्थित एक कोयला खदान के अंदर हुए हादसे में वहां काम कर रहे दक्षिणी असम के करीमगंज जिले के रहने वाले कम से कम छह लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना के बाद एक बार फिर यहां बड़ा हादसा होने की आशंका है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 31 May 2021, 11:16 PM
/* */