छत्तीसगढ़: CM भूपेश बघेल ने अपना वादा किया पूरा, विशेष पिछड़ी जनजाति के 80 युवाओं को दी सरकारी नौकरी

प्रदेश के कबीरधाम जिले में बैगा जनजाति के 80 शिक्षित युवाओं को शिक्षा, राजस्व, सहायक शिक्षक, पशुपालन विभाग में परिचारक, भृत्य के पदों पर नियुक्ति प्रदान की गई है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

छत्तीसगढ़ विशेष पिछड़ी जनजाति को सरकारी नौकरी में जाने के बाद एक अमल शुरू हो गया है इसके तहत कबीरधाम जिले में बैगा जनजाति के 80 शिक्षित युवाओं को नौकरी मिल गई है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विशेष पिछड़ी जनजाति की ओर शिक्षित युवाओं को सरकारी नौकरी देने का वादा किया था। इस घोषणा के अनुरूप प्रदेश के कबीरधाम जिले में बैगा जनजाति के 80 शिक्षित युवाओं को शिक्षा, राजस्व, सहायक शिक्षक, पशुपालन विभाग में परिचारक, भृत्य के पदों पर नियुक्ति प्रदान की गई है। जलवायु परिवर्तन मंत्री व कवर्धा विधायक मोहम्मद अकबर ने इन युवाओं को नियुक्ति प्रमाण पत्र प्रदान किया।

राज्य सरकार द्वारा सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े हुए विशेष पिछड़ी जनजातियों को सामाजिक उत्थान की दिशा में इन वर्ग के पढ़े लिखे युवक-युवतियों को चतुर्थ एवं तृतीय वर्ग शासकीय नौकरी में सीधी भर्ती दी जा रही है। विशेष पिछड़ी जनजाति के शिक्षित युवाओं को योग्यतानुसार शासकीय नौकरी देने की मुख्यमंत्री की घोषणा पर अमल करते हुए कबीरधाम जिले के विशेष पिछड़ी जनजाति के 80 युवाओं को शासकीय सेवा में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर नियुक्त किया गया है।

प्रदेश में निवासरत अति पिछड़ी जनजाति वर्ग के शिक्षित युवक-युवतियों को शिक्षा और विकास के मुख्य धारा में लाने सरकार की प्राथमिकता में शामिल है। छत्तीसगढ़ सरकार ने इस वर्ग के युवक-युवतियां को रोजगार देकर उन्हें मुख्यधारा में लाने की शुरुआत कर दी है।

कबीरधाम जिले में विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा के 80 युवा शासकीय नौकरी मिलने पर काफी खुश हैं। चेहरों पर मुस्कान लिए खुशी का इजहार करते इन बैगा युवाओं ने जिला कलेक्टोरट पहुंचकर नियुक्ति पत्र प्राप्त किए।

इस दौरान इन युवाओं ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा विशेष पिछड़ी जनजाति के हित में लगातार कार्य किया जा रहा है, जो सराहनीय है। मुख्यमंत्री बघेल द्वारा विशेष पिछड़ी जनजाति के शिक्षित युवाओं को योग्यतानुसार शासकीय नौकरी प्रदान करने का जो निर्णय लिया गया है, उनके इस निर्णय की वजह से हमें शासकीय सेवा में आने का अवसर मिला।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia