दिल्ली: शेल्‍टर होम से 9 लड़कियां लापता होने से मचा हड़कंप, डिप्टी सीएम ने की कार्रवाई, दो अधिकारी निलंबित 

दिल्ली के एक शेल्टर होम से 9 लड़कियों के गायब होने का मामला सामने आया है। यह आश्रम दिलशाद गार्डन में है। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने मुख्य सचिव को निर्देश दिया है कि इस मामले में सीनियर अधिकारी को निलंबित किया जाए।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के शेल्टर होम से 9 नाबालिग लड़कियों के गायब होने का मामला सामने आया है। इनमें से आठ की उम्र 18 से 20 साल की बताई जा रही है, जबकि एक नाबालिग है। मामला उत्‍तर-पूर्वी दिल्‍ली के दिलशाद गार्डन स्थित एक शेल्‍टर होम का है। यहां शनिवार से ही ये लड़कियां लापता हैं, जिसका खुलासा रविवार को अटेंडेंस लेने के दौरान हुआ। जिसके बाद जीटीबी नगर थाने की पुलिस को जानकारी दी गई।

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल द्वारा दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को सोमवार को लिखे गए पत्र के मुताबिक, दिलशाद गार्डन स्थित लड़कियों के संस्कार आश्रम से 1 और 2 दिसंबर की रात को 9 लड़कियां गुम हो गईं। स्वाति ने लिखा, “शेल्टर होम के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें पता नहीं कि कब और कैसे यह लड़कियां गायब हो गईं। उनके गायब होने का पता 2 दिसंबर की सुबह को चला।” उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस द्वारा इस संबंध में एफआईआर दर्ज की गई है और जांच चल रही है।

उन्होंने आगे कहा, “इन 9 लड़कियों को द्वारका के शेल्टर होम से निकाल कर दिलशाद गार्डन के शेल्टर होम स्थानांतरित किया गया था।”

दिल्ली महिला आयोग के मुताबिक इन 9 लड़कियों को बाल कल्याण समिति के आदेश पर 4 मई 2018 को द्वारका के एक शेल्टर होम से इस शेल्टर होम में शिफ्ट किया गया था। उन्होंने दावा किया है कि ये सभी मानव तस्करी और देह व्यापार की शिकार पीड़ितायें थीं। इस मामले में महिला आयोग ने आश्रय गृह के अधिकारीयों पर गम्भीर आरोप लगाए हैं और उपमुख्यमंत्री को पत्र लिखा और जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

इस पत्र पर कार्रवाई करते हुए मनीष सिसोदिया ने दिल्ली के मुख्य सचिव को जिलाधिकारी और शेल्टर होम के अधीक्षक को तुरंत प्रभाव से निलंबित करने का निर्देश दिया है।

गौरतलब है कि इससे पहले बिहार के मुजफ्फरपुर में भी शेल्टर होम में लड़कियों के उत्पीड़न का मामला सामने आया था। टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस, मुंबई (टीआईएसएस) ने अपने सोशल ऑडिट के आधार पर बिहार के मुजफ्फरपुर के साहु रोड स्थित बालिका गृह में नाबालिग लड़कियों के साथ कई महीने तक रेप और यौन शोषण होने का खुलासा किया था। मेडिकल जांच में शेल्टर होम की कम से कम 34 बच्चियों के साथ रेप की पुष्टि हुई थी।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;