योगीराज में सच्चाई दिखाने वाले पत्रकार पर केस दर्ज, मिड-डे-मील में नमक-रोटी परोसने का दिखाया था वीडियो

योगी सरकार में मिर्ज़ापुर जिले के एक सरकारी स्कूल की पोल खोलने वाले पत्रकार पर केस दर्ज किया गया। दरअसल पत्रकार ने मिड-डे मील के तौर पर नमक के साथ रोटी खाते देखने का वीडियो जारी किया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

योगीराज में पत्रकारों पर बर्बरता जारी है। ताजा मामला मिर्जापुर के पत्रकार है, जिसे योगीराज में सच्चाई दिखाने की सजा मिली है। दरअसल मिर्जापुर जिले में स्कूली बच्चों को मिड डे मील में केवल नमक-रोटी दिए जाने वाले मामले को सामने लाने वाले पत्रकार पर केस दर्ज किया गया है।

योगीराज में सच्चाई दिखाने वाले पत्रकार पर केस दर्ज,  मिड-डे-मील में नमक-रोटी परोसने का दिखाया था वीडियो

खबरों के मुताबिक, पुलिस ने आईपीसी की धारा 186,193,120B,420 के तहत स्थानीय पत्रकार पवन जायसवाल और गांव के राजकुमार पाल पर साजिश करने, गलत साक्ष्य बनाकर वीडियो वायरल करने और छवि खराब करने को लेकर मामला दर्ज किया है।

22 अगस्त को प्राथमिक विद्यालय सिऊर का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें दिखाया गया था कि कैसे छात्रों को मिड-डे-मील में केवल रोटी और नमक खा रहे हैं। वीडियो वायरल होने के बाद योगी सरकार की काफी किरकिरी हुई थी। जिसके बाद प्रशासन ने तत्काल प्रभाव से कार्रवाई करते हुए रसोइयां मिड-डे-मील के शिक्षक इंचार्ज और एनपीआरसी के शिक्षक को भी संस्पेंड कर दिया गया।

योगीराज में सच्चाई दिखाने वाले पत्रकार पर केस दर्ज,  मिड-डे-मील में नमक-रोटी परोसने का दिखाया था वीडियो

इस मामले को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने कहा था, “मिर्जापुर के एक सरकारी स्कूल के बच्चों को खाने में नमक और रोटी दिया जा रहा है। यह उत्तरप्रदेश की बीजेपी सरकार की व्यवस्था का असल हाल है। जिस वजह से राज्य में सरकारी सुविधाओं की यह दुर्गति हुई है। बच्चों के साथ हुआ यह व्यवहार निंदनीय है।”

बता दें कि जमालपुर के ग्राम सभा हिनौता के सीयूर प्राथमिक विद्यालय में 22 अगस्त 2019 को बच्चों को मिड डे मिल में स्कूल के कर्मचारियों ने रोटी और नमक परोस दिया । इस स्कूल में सौ से ज्यादा बच्चे हैं। मामले को लेकर जमकर हंगामा हुआ था।

Published: 2 Sep 2019, 1:14 PM
लोकप्रिय