'गोवा में BJP की मदद करने के लिए चुनाव लड़ रही है AAP और TMC', कांग्रेस नेता चिदंबरम ने लगाए कई गंभीर आरोप

चिदंबरम ने एक बयान में कहा, "मेरा आकलन है कि आप (और टीएमसी) गोवा में केवल गैर-बीजेपी वोटों में सेंध लगाएगा और इसकी पुष्टि अरविंद केजरीवाल ने की है। गोवा में मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच है।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी (आप) और तृणमूल कांग्रेस गोवा में विपक्ष के वोट को बांटने और बीेजेपी की मदद करने के लिए चुनाव लड़ रही है। गोवा में कांग्रेस के वरिष्ठ पर्यवेक्षक पी. चिदंबरम ने कहा कि लोग या तो बीजेपी या सत्ता परिवर्तन के लिए वोट दे रहे हैं।

चिदंबरम ने एक बयान में कहा, "मेरा आकलन है कि आप (और टीएमसी) गोवा में केवल गैर-बीजेपी वोटों में सेंध लगाएगा और इसकी पुष्टि अरविंद केजरीवाल ने की है। गोवा में मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच है।"

उन्होंने कहा, "जो लोग शासन बदलना चाहते हैं (10 साल के कुशासन के बाद) वे कांग्रेस को वोट देंगे। जो चाहते हैं कि शासन जारी रहे, वे बीजेपी को वोट देंगे। गोवा में मतदाता के सामने चुनाव स्पष्ट है। क्या आप एक शासन चाहते हैं बदलें या नहीं? मैं गोवा के मतदाताओं से अपील करता हूं कि वे सत्ता परिवर्तन के लिए वोट करें और कांग्रेस को वोट दें।"

गोवा में कांग्रेस को बीजेपी से आगे रहने की कोशिश में कड़ी टक्कर का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी राज्य में पुरानी पार्टी का खेल खराब कर रही है।

कांग्रेस एक मजबूत चेहरा पेश करने की कोशिश कर रही है और राजनीतिक हलकों में अटकलों के बावजूद तृणमूल के साथ किसी भी गठबंधन की बातचीत से इनकार किया है। कांग्रेस के रुख से बौखलाकर तृणमूल ने कांग्रेस के खिलाफ आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है।


तृणमूल नेता महुआ मोइत्रा ने कहा, "तृणमूल कहती रही है कि वे गठबंधन के लिए तैयार हैं, लेकिन कांग्रेस सम्राट की तरह स्वीकार करने और व्यवहार करने को तैयार नहीं है। गोवा में बीजेपी को हराना समय की मांग है। कोई भी बड़ा नहीं है। एआईटीसी अंतिम मील चलने से नहीं शर्माएगा और न ही दोहराएगा।"

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी गोवा में आगामी चुनाव के लिए चुनाव पूर्व गठबंधन के लिए कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के साथ बातचीत कर रही है, उसके बाद दोनों दलों के बीच गठबंधन की अटकलें तेज हो गई हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia