मुख्य समाचार

नीरव मोदी ने पासपोर्ट रद्द होने के बावजूद की 3 देशों की यात्राएं, मोदी सरकार को पता भी नहीं चला

हीरा कारोबारी नीरव मोदी

भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा पासपोर्ट रद्द किए जाने के बावजूद पीएनबी घोटाले का मुख्य आरोपी नीरव मोदी तीन देशों की चार बार यात्राएं कर चुका है। 5 जून को भारतीय एजेंसियों को लिखे पत्र में इंटरपोल ने यह जानकारी दी है।

पंजाब नेशनल बैंक को 13 हजार करोड़ से ज्यादा का चूना लगाने वाला भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी विदेशों में मौज कर रहा है। मोदी सरकार नीरव मोदी को जल्द कानून की गिरफ्त में लाने के बड़े-बड़े दावे कर रही है। उधर नीरव मोदी भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा 24 फरवरी को पासपोर्ट रद्द किए जाने के बावजूद तीन देशों की चार बार यात्राएं कर चुका है। हैरानी की बात यह है कि दूसरे देशों से अच्छे संबंधों का दावा करने वाली मोदी सरकार को इसकी भनक तक नहीं लगी। 5 जून को भारतीय एजेंसियों को लिखे पत्र में इंटरपोल ने यह जानकारी दी है।

इंटरपोल के अनुसार, नीरव मोदी ने 15 मार्च, 28 मार्च, 30 मार्च और 31 मार्च को भारतीय पासपोर्ट पर अमेरिका, ब्रिटेन और हॉन्गकॉन्ग की यात्राएं की। इंटरपोल ने यह पत्र सीबीआई की ओर से जारी उस नोटिस के जवाब में लिखा है, जिसमें इंटरपोल से नीरव मोदी के बारे में पता लगाने की अपील की गई थी।

इस बीच सीबीआई ने नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के साथ नीरव मोदी के भाई निशाल और उसकी कंपनी के एक कार्यकारी सुभाष परब के खिलाफ इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की अपील की है।

नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ जनवरी महीने में सरकारी बैंक पीएनबी के साथ 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने की शिकायत दर्ज कराई गई थी। आरोप है कि दोनों ने फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग के जरिए बैंक से यह रकम हासिल की थी। घोटाला सामने आने के बाद हीरा नीरव मोदी और उसका मामा मेहुल चोकसी जनवरी के महीने में ही देश छोड़कर फरार हो गए थे। बताया जा रहा है कि नीरव मोदी फिलहाल ब्रिटेन में है। वहीं चोकसी अमेरिका में है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें