पुणे में हादसा, दो गोदामों में आग लगने से दो भाइयों की मौत, कई वाहन जलकर खाक

आग की लपटें तेजी से बगल के विनायक एल्युमीनियम प्रोफाइल कंपनी के गोदाम तक फैल गईं, जहां दोनों भाई मेजेनाइन फर्श पर गहरी नींद में सो रहे थे। उन्हें अपने आसपास की भीषण आग का एहसास नहीं था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

पुणे में पिंपरी-चिंचवड़ में मंगलवार तड़के दो निकटवर्ती गोदामों में लगी भीषण आग में दो भाइयों की सोते समय दम घुटने से मौत हो गई और कई वाहन जलकर खाक हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

ट्विन सिटी के भीड़भाड़ वाले वाल्हेकरवाड़ी इलाके में देर रात करीब 2.30 बजे आग लगने की सूचना मिली, जिससे इलाके में दहशत फैल गई और स्थानीय लोगों ने मदद बुलाई।

कम से कम पांच दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और आग पर काबू पाया। आग गणेश पैकेजिंग लिमिटेड के गोदाम में फैल गई थी, जहां बड़ी मात्रा में लकड़ी का भंडारण किया गया था। माना जाता है कि सबसे पहले आग यहीं लगी थी।

आग की लपटें तेजी से बगल के विनायक एल्युमीनियम प्रोफाइल कंपनी के गोदाम तक फैल गईं, जहां दोनों भाई मेजेनाइन फर्श पर गहरी नींद में सो रहे थे। उन्हें अपने आसपास की भीषण आग का एहसास नहीं था।

आग ने दो गोदामों के अलावा आसपास खड़े एक चार पहिया वाहन और तीन दोपहिया वाहनों को भी पूरी तरह से जलाकर राख कर दिया।

अंदर पहुंचने के बाद, अग्निशामकों को दो भाइयों के शव मिले, जिनकी जहरीले धुएं से दम घुटने के कारण मौत हो गई।

उनकी पहचान 23 वर्षीय कमलेश ए. चौधरी और उनके छोटे भाई 21 वर्षीय ललित ए. चौधरी के रूप में की गई है।

आग लगने का कारण पता नहीं चला है और पुलिस और फायर ब्रिगेड आगे की जांच जारी रखे हुए हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;