गिलानी के निधन के बाद कश्मीर में पहले जुमे की नमाज शांतिपूर्ण रही, मोबाइल सेवाएं बहाल, बंदिशों में छूट पर विचार

जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने कहा कि शुक्रवार को बिना किसी अप्रिय घटना के स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। कश्मीर के पुलिस आईजी विजय कुमार ने कहा कि शुक्रवार को रात 10 बजे तक सभी मोबाइल फोन पर वॉयस कॉल और इंटरनेट की सुविधा बहाल कर दी जाएगी।

फाइल फोटोः IANS
फाइल फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर के वयोवृद्ध अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की मौत के बाद शुक्रवार को पहले जुमे की नमाज शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुई और पूरे कश्मीर घाटी में कानून-व्यवस्था की स्थिति सामान्य रही, जिसके बाद मोबाइल सेवाएं बहाल कर दी गई हैं और अब लगाए गए अन्य प्रतिबंधों में चरणबद्ध ढील देने पर विचार किया जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने कहा कि शुक्रवार को बिना किसी अप्रिय घटना के स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। कश्मीर के महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा कि शुक्रवार को रात 10 बजे तक सभी मोबाइल फोन पर वॉयस कॉल और इंटरनेट की सुविधा बहाल कर दी जाएगी। हालांकि, इस बीच, कश्मीर विश्वविद्यालय ने शनिवार को होने वाली सभी परीक्षाओं को स्थगित करने की घोषणा की है।


श्रीनगर के हैदरपोरा कब्रिस्तान में गिलानी को दफनाने के बाद अधिकारियों ने गुरुवार को पूरी घाटी में प्रतिबंध लगा दिया था और मोबाइल टेलीफोन संचालन और इंटरनेट सुविधा को निलंबित कर दिया था। हालांकि, पोस्टपेड बीएसएनएल मोबाइल फोन पर वॉयस कॉलिंग जारी रही और ब्रॉडबैंड भी समर्पित बीएसएनएल ब्रॉडबैंड कनेक्शन पर काम कर रहा था।

घाटी में केवल स्थानीय मस्जिदों में लोगों द्वारा जुमे की नमाज अदा की गई क्योंकि अधिकारियों ने कहीं भी बड़ी नमाज अदा करने की अनुमति नहीं दी। हालांकि, श्रीनगर शहर और पुलवामा जिले में कुछ स्थानों से पथराव करने वाले युवाओं और सुरक्षा बलों के बीच संघर्ष की छिटपुट घटनाओं की खबरें आईं, लेकिन अधिकारियों ने कहा कि किसी को भी चोट पहुंचाए बिना इन पर तुरंत नियंत्रण कर लिया गया है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia