पटरी से पूरी तरह उतरी अर्थव्यवस्था, कोर सेक्टर ग्रोथ में भी भारी गिरावट, कांग्रेस ने पूछा- कब तक नहीं बोलेगी सरकार

देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से पटरी उतरी हुई नजर आ रही है। विकास दर 6 साल के निचले स्तर पर गिरने की खबर के बाद आर्थिक मोर्चे पर एक और बुरी खबर सामने आई है। कोर सेक्टर में भी जबरदस्त गिरावट दर्ज हुई है जो पिछले साल के मुकाबले करीब एक चौथाई रह गई है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

देश की तरक्की की रफ्तार पर ब्रेक ही नहीं लगा है, बल्कि अर्थव्यवस्था की गाड़ी पूरी तरह पटरी से उतरी दिखने लगी है। सोमवार को जारी कोर सेक्टर की विकास दर के आंकड़े बेहद चिंताजनक हैं। तीन दिन पहले ही देश की विकास दर के आंकड़ें सामने आए थे और पता चला था कि जीडीपी ग्रोथ 6 साल के निम्न स्तर पर पहुंचकर 5 फीसदी पर आ गई है। सोमवार को जारी कोर सेक्टर ग्रोथ के आंकड़े सामने आए हैं जो इस साल जुलाई में 2.1 फीसदी पर पहुंच गए हैं। पिछले साल कोर सेक्टर की विकास दर 7.3 थी लेकिन इस साल इसमें करीब तीन चौथाई की गिरावट दर्ज की गई है। कोर सेक्टर में बिजली, स्टील, रिफाइनरी प्रोडक्ट, क्रूड ऑयल, कोल, सीमेंट, नेचुरल गैस और फर्टिलाइजर सेक्टर शामिल हैं। सोमवार को आए नए पीएमआई आंकड़ों से इसका खुलासा हुआ है।

ताजा आंकड़े बताते हैं कि आठ कोर सेक्टर में से 5 में जबरदस्त गिरावट हुई है। इनमें कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस और रिफाइनरी प्रोडक्ट सेक्टर शामिल हैं जिनकी जुलाई में ग्रोथ नकारात्मक रही है। दरअसल मांग और निवेश में कमी से अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने वाले हर सेक्टर में गिरावट का दौर जारी है। गौरतलब है कि मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट घट कर पांच फीसदी पहुंच गई है जोकि साढ़े छह साल का न्यूनतम स्तर है। यहां ध्यान रखना होगा कि लगातार पांचवीं तिमाही में जीडीपी ग्रोथ में गिरावट दर्ज की गई है।

पिछले वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में यह 5.8 फीसदी थी। दरअसल खपत में आई भारी गिरावट की वजह से जीडीपी के आंकड़ों में इतनी भारी गिरावट आई है। रिजर्व बैंक ने 2019-20 में देश की विकास दर 6.7 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था। हालांकि बाद में इसने इसे संशोधितकर कर घटा दिया था। साथ ही कहा गया था कि अर्थव्यवस्था में यह गिरावट साइक्लिक है, स्ट्रक्चकरल नहीं है यानी कुछ समय के लिए है और आने वाले समय में इसमें सुधार हो जाएगा।

कोर सेक्टर की गिरावट पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर तीखा निशाना साधा है। कांग्रेस ने एक ट्वीट में कहा है कि, “समय आ गया है कि सरकार असली मुद्दों से ध्यान भटकाना बंद करें, बाजीगरी बंद कर पारदर्शिता दिखाए, सामने आकर बोले न कि परछाइयों के पीछे छिपे।” कांग्रेस ने आगे कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी आखिर किस बात का इंतजार कर रहे हैं?

Published: 2 Sep 2019, 8:00 PM
लोकप्रिय