मुख्य समाचार

पूर्वोत्तर के राज्यों में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात, सैकड़ों लोग पानी में फंसे, स्कूल-कॉलेज बंद

पूर्वोत्तर में भारी बारिश से कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात

भारी बारिश के बाद मिजोरम में सबसे बुरा हाल है। यहां की राजधानी आइजोल को जोड़ने वाली कई सड़कें टूट गई हैं। लेंगपुई एयरपोर्ट की तरफ जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 54 मिट्टी में धंसने की वजह से बंद हो गया है।

पूर्वोत्तर के कई राज्यों में आंधी-तूफान और भारी बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। मणिपुर, मिजोरम और असम में भारी बारिश के बाद कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। मिजोरम में सबसे बुरा हाल है। यहां की राजधानी आइजोल को जोड़ने वाली कई सड़कें टूट गई हैं। लेंगपुई एयरपोर्ट की तरफ जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 54 मिट्टी में धंसने की वजह से बंद हो गया है। आंधी-तूफान में जगह-जगह पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए हैं।

भारी बारिश के बाद मणिपुर की राजधानी इम्‍फाल में बुरा हाल है। शहर की सड़कें पानी में डूब गई हैं। लोगों के घरों में बारिश का पानी घुस गया है। कुछ ऐसा ही हाल असम में भी देखने को मिल रहा है। यहां के बोकाखाट में बारिश से लोगों का बुरा हाल है। बारिश का पानी सड़कों पर भर गया है। लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है।

मिजोरम में अपदा प्रबंधन विभाग बड़े स्तर पर राहत और बचाव के काम जुटा हुआ है। लुंगलेई जिले में फंसे 150 परिवारों को अब तक सुरक्षित निकाला जा चुका है। बताया जा रहा है कि अभी भी सकड़ों लोग पानी में फंसे हुए हैं।

फिलहाल पूर्वोत्तर को बारिश से राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है। मौसम विभाग ने मिजोरम को अलर्ट जरी करते हुए 16 जून तक राज्य में भारी बारिश की संभावना जताई है। बारिश से निचले इलाकों में हालाता बिगड़ सकते हैं। मौसम विभाग ने मछुआरों को समुद्र तट से दूर रहने के लिए कहा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें