नांदेड़ के बाद छत्रपति संभाजीनगर के अस्पताल में 2 नवजात समेत 8 की मौत, शरद पवार ने बताया ‘काला धब्बा’

पवार ने कहा कि नांदेड़ के सरकारी अस्पताल में 24 घंटे के अंदर 12 नवजात समेत 24 मरीजों की मौत की दुर्भाग्यपूर्ण घटना को एक दिन भी नहीं बीता कि औरंगाबाद के घाटी अस्पताल में 2 नवजात सहित 8 मरीजों की मौत ने सरकारी स्वास्थ्य प्रणाली पर काला धब्बा लगा दिया है।

नांदेड़ के बाद छत्रपति संभाजीनगर के अस्पताल में 2 नवजात समेत 8 की मौत
नांदेड़ के बाद छत्रपति संभाजीनगर के अस्पताल में 2 नवजात समेत 8 की मौत
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र के नांदेड़ के सरकारी अस्पताल में 24 लोगों की मौत की घटना के बमुश्किल 24 घंटे बाद महाराष्ट्र के छत्रपति संभाजीनगर जिले के एक सरकारी अस्पताल में 2 शिशुओं सहित कम से कम 8 मरीजों की मौत की खबर से हड़कंप मच गया है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने इसे राज्य सरकार की स्वास्थ्य प्रणाली पर "काला धब्बा" करार दिया है।

छत्रपति संभाजीनगर (पूर्व-औरंगाबाद) जिले के एक सरकारी अस्पताल में मरने वाले 8 लोगों में 5 पुरुष हैं और उनकी मौत के कारणों का विवरण अभी तक स्पष्ट नहीं है। इस बीच अस्पताल के एक अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा कि मौतें असामान्य नहीं हैं, क्योंकि यह 1,000 बिस्तरों वाला अस्पताल है और यहां सांप के काटने से लेकर सड़क दुर्घटनाओं तक हर तरह के मामले रोजाना आते हैं।


लेकिन इन मौतों पर हंगामा शुरू हो गया है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने इसे राज्य सरकार की स्वास्थ्य प्रणाली पर "काला धब्बा" करार दिया।पवार ने कहा, ''नांदेड़ के सरकारी अस्पताल में 24 घंटे के अंदर 12 नवजात शिशुओं समेत 24 मरीजों की मौत की दुर्भाग्यपूर्ण घटना को एक दिन भी नहीं बीता, उसी समय औरंगाबाद के घाटी अस्पताल में 2 नवजात शिशुओं सहित 8 मरीजों की मौत ने सरकारी स्वास्थ्य प्रणाली पर काला धब्बा लगा दिया है।“

एक दिन पहले नांदेड़ के सरकारी अस्पताल में 24 घंटे के अंदर 12 नवजात समेत 24 लोगों की मौत पर हंगामे के बाद मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल ने नांदेड़ के मुद्दे पर चर्चा की और एक वरिष्ठ मंत्री हसन मुश्रीफ स्थिति का आकलन करने के लिए नांदेड़ पहुंचे। हालांकि, विपक्षी नेता स्वास्थ्य विभाग में गंभीर खामियों के लिए राज्य प्रशासन की आलोचना कर रहे हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;