यूपी सरकार किसान सम्मान निधि के अपात्रों से करेगी वसूली, किसानों को नोटिस मिलना शुरू

सूत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 3 लाख से ज्यादा किसान सम्मान निधि के अपात्र पाए गए हैं। महोबा जिले की बात करें तो करीब 1000 किसानों को सम्मान निधि वापस करने का नोटिस मिला है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जीत के बाद योगी सरकार के तेवर बदल गए हैं। यूपी सरकार अब सरकारी योजनाओं में अपात्र लोगों को खोजने में लगी हुई है। सबसे पहले राशन कार्ड को लेकर अफरा तफरी का माहौला बना। बड़ी संख्या में लोगों ने राशन कार्ड वापस किए, जिसके चलते भीड़ जैसे हालात बन गए, अब किसान सम्मान निधि का लाभ लेने वालों को नोटिस दिया जा रहा है। इस क्रम में बुंदेलखंड के चित्रकूट मंडल में करीब 9000 से ज्यादा किसानों से अब 3 करोड़ से अधिक पैसा वसूला जाएगा।

एनडीटीवी ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि यूपी में 3 लाख से ज्यादा किसान सम्मान निधि के योग्य नहीं माने गए हैं। अकेले महोबा जिले में करीब 1000 किसानों को सम्मान निधि वापस करने का नोटिस मिला है। इसके साथ ही किसानों से रिकवरी का काम भी जारी है। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक किसानों से अब तक 17 लाख रुपये की रिकवरी जा चुकी है। गौरतलब है कि मई के बाद किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त आनी है, इसी के चलते EKYC का काम जोरों पर है। उत्तर प्रदेश में अपात्र किसानों से करीब 200 करोड़ रुपए वसूले जाने हैं।


दरअसल केंद्र सरकार ने उन किसानों को अपात्र करार दिया है जिनकी आमदनी 2.50 लाख से ज्यादा है। इससे लिए केंद्र ने आयकर दाताओं की लिस्ट भी भेजी है। हालांकि किसानों की शिकायत है कि उनको पता ही नहीं है कि वसूली का नोटिस क्यों भेजा जा रहा है। किसानों का कहना है कि तीन साल बाद सरकार को याद आया है कि हम अपात्र हैं। अब रिकवरी का पैसा कहां से देंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia