आईएएस टीना डाबी के टॉप करने के बाद सपनों को और लगे पंख, बहन रिया डाबी ने हासिल की 15वीं रैंक

रिया डाबी ने बताया कि, बहुत खुशी हो रही है साथ ही अच्छा लग भी रहा है। मुझे उम्मीद नहीं थी कि ऐसा होगा, क्योंकि मेरा मानना है कि यहां तक पहुंचने के लिए एक उम्मीदवार के लिए एक पूरी जर्नी होती है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

यूपीएससी ने सिविल सर्विसेज 2020 का रिजल्ट जारी कर दिया है। एक तरफ शुभम कुमार ने टॉप किया तो दूसरी ओर आईएएस टीना डाबी की बहन रिया डाबी ने यूपीएएससी रिजल्ट में 15वीं रैंक हासिल की है। संघ लोक सेवा आयोग की ओर से देश की ब्यूरोक्रेसी में नियुक्ति के लिए कुल 761 उम्मीदवारों की सिफारिश की गई है।

रिया डाबी ने बताया कि, बहुत खुशी हो रही है साथ ही अच्छा लग भी रहा है। मुझे उम्मीद नहीं थी कि ऐसा होगा, क्योंकि मेरा मानना है कि यहां तक पहुंचने के लिए एक उम्मीदवार के लिए एक पूरी जर्नी होती है। स्कूल और कॉलेज से आपको तैयारी करनी होती है।

रिया का कहना है कि, वह अपने घर पर ही हर रोज लगभग 10 घंटे तैयारी को देती थी। उन्होंने लेडी श्रीराम कालेज से ग्रेजुएशन की है। वहीं ग्रेजुएशन के साथ ही यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी थी। रिया ने आगे बताया कि, उन्होंने यूपीएससी परीक्षा के लिए कोचिंग भी ली थी।फिलहाल रिया दिल्ली के कालीबाड़ी मार्ग की बीएसएनएल कालोनी में परिवार के साथ रहती हैं।


उन्होंने आगे अपना अनुभव साझा करते हुए बताया कि, बहन के कारण एक दबाब तो होता ही है, क्योंकि लोग बोलते हैं। लेकिन, मेरे परिवार से कभी कोई दबाब नहीं डाला गया। उन्होंने हमेशा यही कहा कि आपसे जितना हो करें, इस वजह से भी मुझे काफी मदद मिली।

बचपन से ही मेरी मां का सपना था कि दोनों बहनें एक ही प्रोफेशन में जाएं, लेकिन जब मेरी बहन का सलेक्शन हुआ तो वो मोटिवेशन को और भी मजबूत मिली। रिया के मुताबिक कोरोना के कारण परीक्षा स्थगित होने से शुरूआत में कुछ निराशा हुई थी, लेकिन फिर समय का इस्तेमाल अपनी तैयारी में किया।

दरअसल कोरोना महामारी में बहुत से अभ्यर्थी निराश हो गए थे, लेकिन जब हौसले और आसमान छूने की ललक होतो आपको फिर कोई रोक नहीं पाता। रिया डाबी की बड़ी बहन टीना डाबी अभी राजस्थान में आईएएस हैं। टीना ने 2015 की प्रशासनिक सेवा परीक्षा में पहला स्थान पाया था।

दरअसल शुभम के अलावा जागृति अवस्थी और अंकिता जैन ने सिविल सेवा परीक्षा में क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia