अग्निपथ योजना अपनी सेना बनाने की बीजेपी की चाल, सिर्फ मुखौटे के रूप में हो रहा सेना का इस्तेमाल- ममता बनर्जी

ममता ने मानसून सत्र के दौरान विधानसभा के पटल पर कहा कि अग्निपथ योजना की घोषणा रक्षा मंत्रालय द्वारा नहीं की गई, बल्कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा इसकी घोषणा की गई। यह वास्तव में सेना के प्रशिक्षण की आड़ में अपना स्वयं का बल बनाने के लिए बीजेपी की चाल है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल विधानसभा में शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र की मोदी सरकार की अग्निपथ योजना पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि यह बीजेपी की अपनी स्वयं की सेना बनाने की चाल है। उन्होंने कहा कि रक्षा बल का सिर्फ एक मुखौटा के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। बीजेपी पूरे देश में अपने गुंडों की एक ताकत बनाने के लिए लॉलीपॉप पेश कर रही है।

मुख्यमंत्री ने विधानसभा के चल रहे मानसून सत्र के दौरान सदन के पटल पर कहा कि अग्निपथ योजना की घोषणा रक्षा मंत्रालय द्वारा नहीं की गई थी, बल्कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा इसकी घोषणा की गई। यह वास्तव में सेना के प्रशिक्षण की आड़ में अपना स्वयं का कैडर बल बनाने के लिए बीजेपी की एक चाल है। रक्षा बल सिर्फ एक मुखौटा हैं। बीजेपी पूरे देश में अपने गुंडों की एक ताकत बनाने के लिए लॉलीपॉप पेश कर रही है।


ममता बनर्जी के भाषण के बीच में ही विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी के नेतृत्व में विपक्षी बीजेपी विधायकों ने विरोध करना और नारे लगाना शुरू कर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि चार साल की सेवा के बाद कई लोगों की नौकरी चली जाएगी। मैं उन्हें आपके आवास पर भेजूंगी और आपको उनकी नौकरी की जिम्मेदारी लेनी होगी।

इन टिप्पणियों से नाराज बीजेपी विधायक सदन के वेल में पहुंच गए और विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी करने लगे। जल्द ही बीजेपी विधायकों ने सदन से वाकआउट कर दिया। बाद में अधिकारी ने मीडिया से कहा कि मुख्यमंत्री ने इस तरह की टिप्पणी करके भारतीय सेना का अपमान किया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia