स्वतंत्रता दिवस से पहले बड़े आतंकी हमले की साजिश को पंजाब पुलिस ने की नाकाम, IED भरे टिफिन बॉक्स, हथगोले बरामद

स्वतंत्रता दिवस से पहले पंजाब पुलिस ने एक बड़ी आतंकी कोशिश को नाकाम कर दिया है। राज्य पुलिस ने भारत-पाक सीमा के पास से दो से तीन किलो वजन के इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) बरामद किया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

स्वतंत्रता दिवस से पहले पंजाब पुलिस ने एक बड़ी आतंकी कोशिश को नाकाम कर दिया है। राज्य पुलिस ने भारत-पाक सीमा के पास से दो से तीन किलो वजन के इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) बरामद किया है। पंजाब पुलिस ने सोमवार को बताया कि उन्होंने अमृतसर में भारत-पाक सीमा पर दो से तीन किलो वजन के एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस से भरा एक डबल डेकर टिफिन बॉक्स बरामद किया है, जिसका इस्तेमाल किसी बड़े टारगेट को पूरा करने के लिए किया जा सकता था।

राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिनकर गुप्ता ने यहां मीडिया को बताया कि अतीत की सीमा पार की घटनाओं को देखते हुए कहा जा सकता है कि विस्फोटक पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए पहुंचाया गया था। शनिवार शाम दलके गांव में मिले बैग में टिफिन बॉक्स के अलावा पांच हथगोले और 100 कारतूस मिले हैं।

उन्होंने कहा, बाद में एनएसजी (राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड) को सतर्क किया गया और वह मौके पर पहुंच गए और जांच शुरू कर दी। डीजीपी ने कहा कि एक पूर्व सरपंच ने 7 अगस्त की रात को एक ड्रोन देखे जाने की सूचना पुलिस को दी थी, जो बाद में अंतराष्ट्रीय सीमा के दूसरी ओर लौट गया।


पुलिस को अलर्ट पर रखा गया और व्यापक तलाशी ली गई। तलाशी के दौरान, एक बैग मिला, जिसमें सात अच्छी तरह से पैक किए गए पाउच थे जिनमें एक प्लास्टिक टिफिन, पांच हैंड-ग्रेनेड और 100 कारतूस थे। दो से तीन किलो वजनी एक आरडीएक्स, एक स्विच और एक रिमोट कंट्रोल डिवाइस भी मिला है।

डीजीपी ने आगे कहा, विस्फोटक में विस्फोट के लिए समय तय करने के लिए स्विच तंत्र का प्रावधान है। एक सप्रिंग तंत्र भी पाया गया है। साथ ही दो चुंबक के साथ एक चुंबकीय तंत्र भी है।गुप्ता ने कहा कि डिवाइस में रिमोट मैकेनिज्म के लिए इस्तेमाल होने वाला सर्किट बोर्ड भी है। इसके अलावा तीन डेटोनेटर भी मिले हैं।

डीजीपी ने कहा, ऐसा लग रहा था कि इन सभी कंपोनेंट्स को विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा पैक किया गया था। इसका इस्तेमाल कुछ हाई वैल्यू टॉरगेट के लिए किया जाना था। अभी हम लक्ष्य के बारे में नहीं जानते हैं। उन्होंने कहा, हमें इस बात की भी कोई जानकारी नहीं है कि ऐसे कितने आईईडी विस्फोटक पंजाब में उतरे हैं।

डीजीपी ने कहा कि लंबे अंतराल के बाद राज्य में टिफिन बम आईईडी की बरामदगी हुई है। इससे पहले, ट्रांजिस्टर बम जैसे आईईडी का इस्तेमाल आमतौर पर राज्य में उग्रवाद के दिनों में किया जाता था। उन्होंने कहा कि पिछले दो-तीन महीनों में सीमा पार गतिविधि में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। यह बहुत ही भयावह और चिंताजनक डेवलपमेंट है।

टिफिन बम के संभावित लक्ष्य पर, डीजीपी ने कहा कि यह देश में किसी भी लक्ष्य के लिए हो सकता था और लक्ष्य का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है और यह भी पता लगाने के लिए जांच जारी है कि यह खेप किसके लिए भेजी गई थी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 09 Aug 2021, 6:22 PM