एयर इंडिया के बिकने के बाद कर्मचारियों को क्वार्टर खाली करने का मिला नोटिस, संगठन ने दी हड़ताल की चेतावनी

मुंबई के कलीना में स्थित कंपनी के स्टाफ क्वार्टर में रहने वाले कर्मचारियों को विनिवेश डील के ट्रांजैक्शन की क्लोजिंग डेट के छह महीनों के अंदर उन्हें खाली करने को कहा है। जिसके बाद एयर इंडिया यूनियनों ने अनिश्चितकाल हड़ताल की चेतावनी दी है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

68 साल बाद Tata Group के हिस्से आई एयरलाइन एयर इंडिया (Air India) के दिन भले ही बदल रहे हो, लेकिन जो उम्मीद कर्मचारी लगाए बैठे थे उसपर पानी फिरता दिख रहा है। दरअसल, एयर इंडिया (Air India) कर्मचारियों को क्वार्टर खाली करने का नोटिस मिला है, जिसके बाद से यूनियनों ने मुंबई में कंपनी के स्टाफ क्वार्टर को खाली करने का नोटिस मिलने के बाद हड़ताल की चेतावनी दी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

यूनियनों ने दी हड़ताल की चेतावनी

आपको बता दें, मुंबई के कलीना में स्थित कंपनी के स्टाफ क्वार्टर में रहने वाले कर्मचारियों को विनिवेश डील के ट्रांजैक्शन की क्लोजिंग डेट के छह महीनों के अंदर उन्हें खाली करने को कहा है। जिसके बाद एयर इंडिया(Air India) यूनियनों की ज्वॉइंट एक्शन कमेटी ने बुधवार को मुंबई के क्षेत्रीय लेबर कमीश्नर को नोटिस जारी किया और कहा कि वे इस मामले में 2 नवंबर से अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल पर जा सकते हैं। नियमों के मुताबिक, एक यूनियन को हड़ताल पर जाने से पहले दो हफ्तों का नोटिस देना होता है।

आखिरकार टाटा ग्रुप की हुई एयर इंडिया, 18000 करोड़ की बोली लगाकर सरकारी कंपनी को खरीदा

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

हड़ताल के नोटिस के साथ दिए खत में क्या है?

  • हड़ताल के नोटिस के साथ दिए खत में कहा गया है कि कंपनी की कॉलोनियों में रहने वाले एयर इंडिया के कर्मचारियों को 5 अक्टूबर को एक खत मिला है, जिसमें उनसे 20 अक्टूबर 2021 तक एक अंडरटेकिंग देने को कहा गया, कि वे एयरलाइन के निजीकरण के छह महीनों के अंदर घर खाली कर देंगे।

  • यूनियन लेटर में कहा गया है कि ऐसा पता चला है कि जिस जमीन पर कॉलोनियां स्थित हैं, उसे एयर इंडिया को एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने लीज पर दिया था। एएआई मालिक है और मुंबई इंटरनेशल एयरपोर्ट लिमिटेड केवल एक किरायेदार है।

  • इस खत में आगे कहा गया है कि इसके पीछे कोई कारण नहीं है कि एयर इंडिया कॉलोनियों को इतनी जल्दी में खाली कर दे और जमीन को अडाणी ग्रुप को सौंप दे। एयरपोर्ट की जमीन पर कई झुग्गियां हैं, जिन्हें कोई नोटिस नहीं दिया गया है। महाराष्ट्र सरकार जमीन के रिकॉर्ड्स की संरक्षक है और ट्रांसफर के लिए उनकी इजाजत जरूरी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

'कर्मचारियों को उनके रिटायरमेंट तक घरों में रहने की इजाजत दी जाएं'

संयुक्त फोरम ने मांग की है कि 5 अक्टूबर को जारी सर्रकुलर को वापस लिया जाए और कर्मचारियों को उनके रिटायरमेंट तक घरों में रहने की इजाजत दी जाए। उन्होंने कहा है कि ऐसा नहीं करने पर, उनके पास 2 नवंबर 2021 से अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल पर जाने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचेगा।

आपको बता दें, एयर इंडिया की मुंबई के कलीना और दिल्ली के पॉश इलाके वसंत विहार में कॉलोनी है। इस मामले में यूनियन का कहना है कि दिल्ली और मुंबई में स्थिति पर यूनियनें रोजाना चर्चा कर रही हैं और वे मिलकर हड़ताल पर फैसला लेंगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia