बिहार में जब्त AK-47 बीजेपी विधायक के भाई की निकली, बेगूसराय पुलिस के खुलासे के बाद आरोपी फरार

कुंदन सिंह बेगूसराय के मेयर उपेंद्र चौधरी के बेटे हैं और वर्तमान में बेगूसराय सदर विधायक हैं। मामले में उनका नाम सामने आने पर उन्होंने आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि उनका नंदन चौधरी या किसी अन्य अपराधी से कोई संबंध नहीं है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के बेगूसराय में रविवार को तीन अपराधियों के पास से बरामद एके-47 राइफल, दो मैगजीन और 188 जिंदा कारतूस कथित तौर पर स्थानीय बीजेपी विधायक के चचेरे भाई के हैं। मंगलवार को बेगूसराय पुलिस ने दावा किया कि आरोपियों में से एक मंजेश उर्फ बंटी उर्फ बड़े ने पूछताछ में खुलासा किया कि बेगूसराय सदर विधायक कुंदन सिंह के चचेरे भाई नंदन सिंह चौधरी ने उन्हें ये हथियार दिए थे।

बेगूसराय के पुलिस अधीक्षक अवाकश कुमार ने कहा, "मंजेश के खुलासे के मुताबिक हथियार और गोला-बारूद नंदन चौधरी के हैं। उसने एक साल पहले मंजेश को हथियार दिए थे।" एसपी ने आगे कहा, "मुख्य आरोपी नंदन चौधरी फरार है। हमने उसे पकड़ने के लिए एक समर्पित टीम का गठन किया है। उसकी गिरफ्तारी के बाद, तस्वीर साफ हो जाएगी कि उसने अत्याधुनिक हथियार कैसे हासिल किया।"


कुंदन सिंह बेगूसराय के मेयर उपेंद्र चौधरी के बेटे हैं और वर्तमान में बेगूसराय सदर विधायक हैं। इस मामले में उनका नाम सामने आने से सियासी पारा चढ़ गया है। प्रतिक्रिया के लिए संपर्क करने पर कुंदन सिंह ने आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि उनका नंदन चौधरी या किसी अन्य अपराधी से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा, "मैंने बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार का बयान नहीं सुना है। फिर भी मैं कहूंगा कि मेरा किसी कथित व्यक्ति से कोई संबंध नहीं है। कानून अपना काम करेगा।"

गौरतलब है कि बेगूसराय पुलिस ने रविवार को जिले के बरौनी कस्बे के कापासिया मोहल्ले में छापेमारी कर मंजेश समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है, जिसमें एक एके-47 राइफल, दो मैगजीन और 188 जिंदा कारतूस शामिल हैं।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia