तेल की कीमतों पर कांग्रेस के साथ विपक्षी दल मोदी सरकार को घेरने को तैयार, राज ठाकरे भी समर्थन में उतरे

कांग्रेस द्वारा बुलाए गए भरत बंद का करीब 18 बड़े और छेटे दोलों ने समर्थन किया है। 10 सितंबर को बुलाया गया भारत बंद सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक रहेगा। इस दौरान देश के अलग-अलग हिस्सों में विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करेंगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पेट्रोल और डीजल की बढ़ी कीमतों और मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ कांग्रेस द्वारा 10 सितंबर को बुलाए गए भारत बंद का महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने भी समर्थन किया है। एक बयान जारी कर एमएनएस ने कहा कि वह भारत बंद में शामिल होगी। महाराष्ट्र में एमएनएस के आलावा शरद पवार की पार्टी एनसीपी समेत कई पार्टियां भारत बंद में शामिल होंगी।

रविवार को प्रेस को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता अजय माकन ने पार्टी द्वारा बुलए गए बंद को सफल बनाने की अपील की। उन्होंने देश भर के पार्टी कार्यकर्ताओं से बंद के दौरान शांति बनाए रखने की भी अपील की। माकन ने कहा कि टैक्स की वजह से तेल काफी महंगा है। उन्होंने कहा कि हमारी मुख्य मांग यह कि केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाए, ताकि लोगों को राहत मिल सके।

कांग्रेस द्वारा बुलाए गए भरत बंद का करीब 18 बड़े और छेटे दोलों ने समर्थन किया है। 10 सितंबर को बुलाया गया भारत बंद सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक रहेगा। इस दौरान देश के अलग-अलग हिस्सों में विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करेंगी।

देश में लगातार करीब 16 दिनों से पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं, जिससे जनता पर महंगाई का बोझ बढ़ता जा रहा है। उधर, मोदी सरकार बाहरी कारणों का हवाला देकर इस मुद्दे से अपना पल्ला झाड़ रही है। वहीं विपक्षी दलों की यह मांग है कि सरकार पेट्रोल और डीजल पर से टैक्स कम करे ताकि जनता को महंगाई से थोड़ी राहत मिले। लेकिन मोदी सरकार ने अब तक टैक्स घटाने पर कोई फैसला नहीं लिया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 09 Sep 2018, 1:34 PM