अलवर मॉब लिंचिंग: पहलू खान के परिवार ने गहलोत सरकार के आदेश पर जताई खुशी, कहा- न्याय की उम्मीद बंधी

मॉब लिंचिंग में पहलू खान की हत्या के मामले में सभी आरोपियों के बरी होने पर राजस्थान सरकार ने एक बार फिर इसकी जांच कराने का आदेश दिया है। पहलू खान के बेटे ने एसआईटी के गठन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इससे न्याय की उम्मीद बंधी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

राजस्थान सरकार ने शुक्रवार को पहलू खान की पीट-पीटकर हत्या किए जाने के मामले की जांच एसआईटी से कराने का फैसला लिया। गहलोत सरकार के इस फैसले पर पीड़ित परिवार ने खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस आदेश के बाद हमारी उम्मीदें फिर से बंध गई है। सरकार का आदेश हमारे लिए न्याय सुनिश्चित करेगा, लेकिन हम हाई कोर्ट जाएंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पहलू खान मॉब लिंचिंग मामले की फिर से जांच पर चर्चा के लिए शुक्रवार को बैठक की। सीएम अशोक गहलोत ने इस मामले की जांच को लेकर एसआईटी का गठन किया है औऱ अगले 15 दिनों में इस मामले को लेकर रिपोर्ट भी मांगी है।

इससे पहले कांग्रेस प्रियंका गांधी ने अलवर की निचली अदालत के फैसले को ‘चौंकाने वाला’ था। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, “पहलू खान मामले में निचली अदालत का फैसला चौंका देने वाला है। हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या जघन्य अपराध है।”

अपने दूसरे ट्वीट में प्रियंका गांधी ने मॉब लिंचिंग के खिलाफ राजस्थान सरकार द्वारा राज्य में नया कानून बनाने की पहल की सराहना की थी। उन्होंने ट्वीट में कहा था, “राजस्थान सरकार द्वारा भीड़ द्वारा हत्या के खिलाफ कानून बनाने की पहल सराहनीय है। आशा है कि पहलू खान मामले में न्याय दिलाकर इसका अच्छा उदाहरण पेश किया जाएगा।”

इसे भी पढ़ें: पहलू खान केस में आरोपियों के बरी होने पर प्रियंका बोलीं- कोर्ट का फैसला चौंकाने वाला, अमानवीयता की कोई जगह नहीं

गौरतलब है कि पहलू खान हत्याकांड में अलवर जिला न्यायालय ने बुधवार को फैसला सुनाते हुए सभी 6 आरोपियों को बरी कर दिया था। गो तस्करी के शक में भीड़ ने अप्रैल 2017 में पहलू खान की पिटाई की और इसके दो दिनों बाद पहलू खान की मौत हो गई थी।

इसे भी पढ़ें: अलवर मॉब लिंचिंग: पहलू खान की हत्या के मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, सभी आरोपी बरी

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय