कोरोना संकट के बीच कांग्रेस ने पीएम को दिलाई किसानों, मजदूरों की याद, कहा- पैदा हुई मुश्किलें, लागू करें ‘न्याय’

कांग्रेस ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के संकट के कारण किसानों, मजदूरों और गरीबों के सामने पैदा हुई मुश्किल को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को राहुल गांधी द्वारा पेश की गई ‘न्यूनतम आय गारंटी योजना’ (न्याय) लागू करके लोगों के खातों में तत्काल 7,500 रुपये की राशि भेजनी चाहिए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी से अपनी न्यूनतम आय गारंटी योजना 'न्याय' को लागू करने की मांग की है, जिसका पार्टी ने वादा किया था। कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस के संकट के कारण किसानों, मजदूरों और गरीबों के सामने पैदा हुई मुश्किल को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'न्यूनतम आय गारंटी योजना’ (न्याय) लागू करना चाहिए।

कांग्रेस ने अपनी घोषणापत्र में कहा था कि देश में 20 प्रतिशत गरीब परिवारों को न्यूनतम आय योजना (न्याय) के हिस्से के रूप में 72,000 रुपये सालाना मिलेंगे। कांग्रेस ने #IndiaMaangeNyay हैशटैग में कांग्रेस नेता राहुल गांधी का बयान सुनाते हुए मोदी सरकार को न्याय योजना की याद दिलाई।

कांग्रेस ने अगले ट्वीट में कहा, “कोरोना वायरस को लेकर राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में पीएम मोदी ने इकनोमिक टास्क फोर्स का दावा किया था, लेकिन उसकी स्थापना अभी तक नहीं हुई। क्या वित्तमंत्री सीतारमण स्पष्ट कर सकती है।

कांग्रेस ने अगले ट्वीट कर कहा, “कोरोना वायरस से निपटने के लिए बीजेपी सरकार ने कीमती समय को बर्बाद कर दिया है।”

कांग्रेस ने आगे कहा कि देश में करोड़ों परिवार ऐसे हैं, जो दिनभर कमाते हैं, तब दो वक़्त की रोटी का इंतजाम हो पाता है। लॉकडाउन वक़्त की जरूरत है, लेकिन लॉकडाउन से पहले इन करोड़ों परिवारों के बारे में न सोचना बीजेपी सरकार की अपर्याप्त तैयारी को दर्शाता है।

कांग्रेस अगले ट्वीट में कहा कि देश में रबी फसल की कटाई का समय है। ऐसे में लॉकडाउन की स्थिति में फसल कटाई से लेकर बेचने तक किसान भाइयों की समस्या दुगुनी होने वाली है। केंद्र सरकार यह सुनिश्चित करे कि किसी भी किसान भाई को आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े

कांग्रेस ने अगले ट्वीट में कहा कि काफी महीने पहले ही कई देश कोरोना की चपेट में आ चुके थे। वेंटिलेटर और PPE की आश्यकता पड़नी ही थी, बावजूद इसके केंद्र सरकार ने 19 मार्च तक इनका निर्यात होने दिया। क्या बीजेपी सरकार की यही सजगता थी?

कांग्रेस ने अगले ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री जी ने कोरोना पर संबोधन के दौरान दोनों ही बार देश को निराश किया है। छोटी दुकानों से लेकर उद्योग तक सब बंद हैं- ऐसे में आर्थिक सहायता ही देश और देशवासियों की मुसीबतों को कम कर सकती है। दुर्भाग्यवश, अभी तक ऐसी कोई घोषणा नहीं हुई है।

कांग्रेस ने आगे कहा कि WHO द्वारा आगाह करने के बावजूद बीजेपी सरकार मालूम नहीं किन ख्यालों में खोयी हुई थी। कोरोना से निपटने के लिए आवश्यक उपकरणों के भंडारण के प्रति सरकार द्वारा इतनी उदासीनता क्यों बरती गई?

वहीं कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, “आदरणीय प्रधानमंत्री.. राहुलजी और कांग्रेस द्वारा प्रस्तुत न्यूनतम आय गारंटी योजना (न्याय) को लागू करना समय की जरूरत है।” रणदीप ने कहा, “21 दिनों के पोषण की जरूरतों को पूरा करने और मुफ्त पीडीएस राशन देने के लिए हर जन धन खाते, पीएम किसान खाते और हर पेंशन खाते में कृपया 7,500 रुपये ट्रांसफर करें।”सुरजेवाला ने सवालिया लहजे में कहा कि छोटे व्यवसाय में लगे कामगार, दिहाड़ी मजदूर 21 दिनों तक कैसे रहेंगे?

Published: 25 Mar 2020, 4:20 PM
लोकप्रिय
next