850 रुपये बोतल वाला पानी पीते हैं अमित शाह, गोवा के मंत्री ने बातों-बातों में कर दिया बड़ा खुलासा

रवि नाइक ने पोंडा में कृषि के लिए प्रशासनिक भवन के उद्घाटन के दौरान अमित शाह के हालिया दौरे का जिक्र करते हुए यह खुलासा किया, जब उन्होंने कथित तौर पर हिमालय मिनरल वाटर की मांग की थी। साथ ही उन्होंने कहा कि भविष्य में पानी सोने और हीरे जितना महंगा होगा।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

गोवा की बीजेपी सरकार में नागरिक आपूर्ति मंत्री रवि नाइक ने दावा किया है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बेहद महंगा पानी पीते हैं, जिसकी एक बोतल की कीमत 850 रुपये है। उन्होंने शाह के हालिया दौरे का जिक्र करते हुए यह सनसनीखेज खुलासा किया।

रवि नाइक, जिनके पास कृषि विभाग भी है, दक्षिण गोवा के पोंडा में कृषि के लिए प्रशासनिक भवन के उद्घाटन के दौरान बोल रहे थे। इस दौरान शाह के हालिया दौरे का जिक्र करते हुए उन्होंने यह खुलासा किया, जब उन्होंने कथित तौर पर हिमालय मिनरल वाटर की मांग की। साथ ही उन्होंने कहा कि भविष्य में पानी सोने और हीरे जितना महंगा होगा।

गोवा के मंत्री ने कहा, "एक अमेरिकी समाचार पत्र ने प्रकाशित किया है कि भविष्य में पानी के दाम सोने और हीरे के समान स्तर पर आ जाएंगे। इसलिए, हमें पानी को संरक्षित करने की आवश्यकता है।" उन्होंने कहा कि राज्य में हर मौसम में लगभग 120 इंच बारिश होती है, इसलिए पानी को संरक्षित करना मुश्किल नहीं होगा। सरकार पूरे राज्य में जहां भी पहाड़ हैं, वहां बांध बना सकती है और पानी जमा कर सकती है। नाइक ने पहले कहा था कि देश के बाकी हिस्सों में पानी की आपूर्ति की जा सकती है और यहां तक कि दूसरे देशों को भी इसका निर्यात किया जा सकता है।


नाइक ने मंच पर अपने अधिकारियों के साथ कीमत की पुष्टि करते हुए कहा, "जब अमित शाह गोवा में थे, तो उन्होंने हिमालय की पानी की बोतल मांगी। इसे मापुसा (पणजी से लगभग 15 किमी) से लाया गया था। इसकी कीमत 850 रुपये थी।" उन्होंने कहा, "लग्जरी होटलों में मिनरल वाटर की बोतलें भी 150 रुपये से 160 रुपये के बीच आती हैं। इस तरह पानी महंगा हो गया है।"

रवि नाइक ने आगे कहा कि भारत और दुनिया भर में भविष्य में पानी की कमी होगी। नाइक ने कहा कि लोग पानी के लिए आपस में लड़ सकते हैं, भविष्य में ऐसी स्थिति हो सकती है। उन्होंने दोहराते हुए कहा कि ऐसी स्थिति को देखते हुए पानी का संरक्षण समय की जरूरत है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia