यूपी में दूरबीन लगाकर बाहुबलि ढूंढ रहे थे अमित शाह, कांग्रेस-सपा ने कहा- 'बगल में छोरा, शहर में ढिंढोरा'

लखनऊ में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने एक कार्यक्रम में कहा कि पहले यूपी में हर तरफ बाहुबलि दिखते थे, लेकिन अब दूरबीन लेकर भी नजर नहीं आते। इस दौरान लखीमपुर कांड से चर्चा में आए अजय मिश्रा भी उनके बगल में खड़े थे। इसी पर कांग्रेस-सपा ने चुटकी ली है।

फोटो सौजन्य : @SUMITKUMAR
फोटो सौजन्य : @SUMITKUMAR
user

नवजीवन डेस्क

बात कल की है यानी शुक्रवार की है। सियासी बात है, और चुनाव जब सिर पर हों तो राजनीतिक छींटाकशी अपने चरम पर पहुंचे लगती है। ऐसा ही हुआ शुक्रवार को। हुआ यूं कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह लखनऊ में एक कार्यक्रम में आए थे और मंच से लोगों को संबोधित कर रहे थे। अमित शाह ने अपने भाषण में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार की तारीफ करते हुए कहा, "पहले की सरकारों में हर जिले में दो-तीन बाहुबली दिखते थे, लेकिन आज दूरबीन लगाकर देखने पर भी नजर नहीं आते।" इतना कहते हुए अमित शाह हाथों को आंखों पर ले जाकर दूरबीन की तरह का हाव-भाव बनाते भी देखे गए।

रोचक बात यह है कि इस दौरान अमित शाह के बगल में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा उर्फ टेनी भी मौजूद थे। अजय मिश्रा वही मंत्री हैं जिनकी मिलकियत वाली थार जीप ने लखीमपुर में प्रदर्शन कर रहे किसानों को कुचल दिया था और जिनके बेटे को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। टेनी की छवि पूरे इलाके में बाहुबलि की ही है।

अमित शाह की इसी अदा और इस डायलॉग पर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने तीखा कटाक्ष किया है। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई ने ट्वीट कर व्यंग्य करते हुए कहा, "दूरबीन से सामने दिखता है अमित शाह जी, और जब बाहुबलि बगल में हो तो कैसे दिखेगा।"

वहीं समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी अजय मिश्रा की अमित शाह के साथ तस्वीर टैग करते हुए कहा, 'झूठी दूरबीन लेकर ढूंढने का ढोंग पूरा था जबकि ‘बगल में छोरा जगत ढिंढोरा’ था।'

गौरतलब है कि अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा पर लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ी से कुचलने के आरोप हैं और वह जेल में है। वहीं संयुक्त किसान मोर्चा के अलावा कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और अन्य विपक्षी दल इस मामले में अजय मिश्रा टेनी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग कर रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia