आंध्र प्रदेश: विशाखापट्टनम में जहरीली गैस लीक होने से कोहराम, 7 की मौत, 150 से ज्यादा भर्ती, 5 गांव खाली कराए गए

आरआर वेंकटपुरम में विशाखा एलजी पॉलिमर कंपनी से जहरीली गैस का रिसाव हुआ है। यह घटना गुरुवार सुबह हुई। जहरीली गैस की वजह से फैक्ट्री के तीन किलोमीटर के इलाके प्रभावित हुए हैं। फिलहाल पांच गांवों को खाली करा लिया गया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में फार्मा कंपनी में जहरीली गैस होने के मामले में मृतकों का आकंड़ा बढ़ गया है। दो और लोगों की मौत हो गई है। इसके साथ मृतकों की संख्या 7 हो गई है। राज्य के डीजीपी ने कहा, “अब तक 7 लोग हताहत हुए हैं, जिनमें से एक शख्स भागने की कोशिश में कुएं में गिर गया। गैस आज सुबह लगभग 3:30 बजे लीक हुआ। इलाके में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। लॉकडाउन के कारण प्लांट बंद था।”

आरएस वेंकटपुरम में एलजी पॉलिमर उद्योग में एक फार्मा कंपनी में रासायनिक गैस लीके होने से जहरीली गैस लीक होने से कोहराम मच गया है। इलाके में दहशत का माहौल है। स्थानीय प्रशासन और नेवी ने फैक्ट्री के पास के गांवों को खाली करा लिया है।

बताया जा रहा है कि आरआर वेंकटपुरम में विशाखा एलजी पॉलिमर कंपनी से जहरीली गैस का रिसाव हुआ है। यह घटना गुरुवार सुबह हुई। जहरीली गैस की वजह से फैक्ट्री के तीन किलोमीटर के इलाके प्रभावित हुए हैं। बताया जा रहा है कि फिलहाल, पांच गांव खाली करा लिए गए। लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं। गैस लीकेज के असली कारण का अभी पता नहीं चल पाया है।


20 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। बीमार लोगों लोगों में ज्यादातर बुजुर्ग और बच्चे शामिल हैं। खबरों के मुताबिक, सरकारी अस्पताल में 150-170 लोग भर्ती कराए गए हैं। इसके अलावा कई लोगों को गोपालपुरम के प्राइवेट अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है।

मौके पर विशाखापट्टनम के जिलाधिकारी वी विनय चंद मौजूद हैं और हालात पर नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने बताया कि दो घंटे के अंदर हालात को नियंत्रण में कर लिया गया। कुछ लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है, उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जा रहा है।

मौके पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें भी लगाई गई हैं और गांवों से लोगों को बाहर निकाला जा रहा है। पुलिस लोगों से घर से बाहर निकलने की अपील कर रही है। लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है।

एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री की स्थापना 1961 में हिंदुस्तान पॉलिमर्स के नाम से की गई थी। कंपनी पॉलिस्टाइरेने और इसके को-पॉलिमर्स का निर्माण करती है। 1978 में यूबी ग्रुप के मैकडॉवल एंड कंपनी लिमिटेड में हिंदुस्तान पॉलिमर्स का विलय कर लिया गया था और फिर यह एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री हो गई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 May 2020, 8:58 AM