ऑफिस लौटने की बात पर एप्पल के कर्मचारियों में रोष, कंंपनी के सामने रख दी ये मांग

द वर्ज के मुताबिक एप्पल के कर्मचारियों ने कंपनी को पत्र लिखकर कहा है कि रिटर्न-टू-ऑफिस की नई नीति में अगर कोई समायोजन नहीं लाया जाता है, तो हमें अपने परिवार और एप्पल के बीच मजबूरन किसी एक को चुनना होगा।

प्रतीकात्मक फोटोः IANS
प्रतीकात्मक फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

एप्पल की तरफ से जैसे ही अपने कर्मचारियों को यह कहा गया कि सितंबर से उन्हें हफ्ते में तीन दिन ऑफिस में आकर काम करना होगा, वैसे ही कर्मचारियों ने रिटर्न-टू-ऑफिस की नई नीति के खिलाफ आवाज बुलंद कर दी है। उनका कहना है कि वे इसके लिए एक लचीला दृष्टिकोण अपनाना चाहते हैं। कर्मचारियों का कहना है कि अगर कोई इस परिस्थिति में घर से काम करने के लिए इच्छुक हैं, तो उन्हें इसकी अनुमति मिलनी चाहिए।

इस सप्ताह की शुरूआत में कर्मचारियों को भेजे गए एक ईमेल में एप्पल के सीईओ टिम कुक ने कहा कि अधिकांश कर्मचारियों को बुधवार और शुक्रवार को घर से काम करने का विकल्प दिया जाएगा और सोमवार, मंगलवार और गुरुवार को ऑफिस आने के लिए कहा जाएगा।
एप्पल की टीम के सदस्य, जिन्हें व्यक्तिगत रूप से उपस्थित रहने की आवश्यकता है, उन्हें हफ्ते में चार-पांच दिन ऑफिस आना होगा।


द वर्ज के मुताबिक एप्पल के कर्मचारियों ने अपने पत्र में लिखा है, "हम अपने सहयोगियों के बीच रिटर्न-टू-ऑफिस की नई नीति को लेकर बढ़ती चिंता के बारे में आपको बताना चाहेंगे। अगर लाई गई इस नई नीति में समायोजन नहीं लाया जाता है, तो हमें अपने परिवार और एप्पल के बीच मजबूरन किसी एक को चुनना होगा।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia