कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे एक और किसान ने की खुदकुशी, हिसार का रहने वाला था किसान

खुदकुशी करने वाले किसान राजबीर कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर जारी किसानों के विरोध प्रदर्शन का हिस्सा थे। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के सैकड़ों किसान दिल्ली की सीमाओं पर 100 दिनों से इन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
user

नवजीवन डेस्क

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच एक और किसान ने दिल्ली बॉर्डर पर खुदकुशी कर ली है। हरियाणा के एक 55 साल किसान ने रविवार को टिकरी-बहादुरगढ़ सीमा पर आत्महत्या कर ली है। पुलिस के अनुसार, हिसार जिले के राजबीर के रूप में पहचाने गए पीड़ित ने पेड़ पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

किसान राजबीर केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर जारी किसानों के विरोध प्रदर्शन का हिस्सा थे। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के सैकड़ों किसान दिल्ली की सीमाओं पर 100 दिनों से इन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

दिल्ली सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसान की खुदुकुशी का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी दर्जनों किसान खुदकुशी कर चुके हैं। बावजूद इसके किसानों की मांगें केंद्र सरकार मामने के लिए तैयार नहीं है।

किसान लगातार दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों के आंदोलन को 100 दिन से ज्यादा का समय बीत चुका है। किसान केंद्र की मोदी सरकार से तीनों कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं। साथ ही उनकी यह भी मांग है कि सरकार एमएसपी पर लीगल गारंटी दे, लेकिन किसानों की मांगों को सरकार सुनने के लिए तैयार नहीं है। सरकार का कहना है कि वह तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी। उधर, किसानों का कहना है कि जब तक यह तीन कृषि कानून वाप स नहीं होते और एमएसपी पर लीगल गारंटी उन्हें नहीं मिलती तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय