बीजेपी विधायक का सरकारी अधिकारियों धमकी, कहा- अगर सम्मान न दें तो जूता निकालकर मारो, देखें वीडिया

उत्तर प्रदेश के ललितपुर में बीजेपी विधायक रामरतन कुशवाहा पर सरकारी कर्मचारियों को लेकर एक विवादित बयान देने का आरोप लगा है। विधायक ने कहा कि अगर प्रदेश के कर्मचारी महीने भर में ठीक नहीं होते हैं तो जूता उतारकर उनको मारिए।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

यूपी के सीएम योगी अपने विधायकों बिगड़े बोल पर रोक लगाने में नाकाम दिखाई दे रहे हैं। ताजा बयान ललितपुर में बीजेपी विधायक का है। जहां रामरतन कुशवाहा ने अधिकारियों का अपमान करते हुए कहा कि अगर अधिकारी सम्मान न दें तो जूता निकालकर मारो।

दरअसरल बीजेपी विधायक ने अपने संबोधन में कहा था कि प्रदेश के कर्मचारी महीने, दो महीने में ठीक नहीं होते हैं तो जूता उतारिये और मारिये। समाजवादी पार्टी और बीएसपी मानसिकता के अधिकारी और कर्मचारियों ने चुनाव में भी कार्यकर्ताओं को हड़काया और सदस्यता लेने के लिए मजबूर किया।

ललितपुर में एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में जिला प्रभारी रामकिशोर साहू ने सदर विधायक रामरतन कुशवाहा के महरौनी में दिए बयान पर अपनी आपत्ति दर्ज करा दी है। साथ ही जिलाध्यक्ष जगदीश सिंह लोधी से अपनी नाराजगी प्रकट की।

यह कोई पहला मामला नहीं है कि जब योगी के विधायक ने बोल बिगड़े हो। इससे पहले विधायक सुरेंद्र सिंह ने विवादित बयान देते हुए अधिकारियों और कर्मचारियों की तुलना वेश्याओं से करते हुए एक बड़ा विवादास्पद बयान दे डाला था।

उन्होंने कहा था कि “इन अधिकारियों और कर्मचारियों से अच्छी तो वेश्याएं ही हैं जो की पैसा लेकर कम से कम नाचने के लिए तैयार तो हो जाती हैं। लेकिन यह तो कर्मचारी और अधिकारी पैसा लेने के बाद भी काम नहीं करते है।”

उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा था कि अगर कोई अधिकारी या कर्मचारी घूस मांगता है तो उनको आप घूसा मारो और अगर उस पर भी नहीं मानता है तो जूता मारो।

Published: 6 Jun 2019, 12:04 PM
लोकप्रिय