अर्थव्यवस्था पर राहुल गांधी का एक और वीडियो, बोले- GST मतलब आर्थिक सर्वनाश, GDP में गिरावट के पीछे ये बड़ा कारण

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जीएसटी को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने आज एक और वीडियो शेयर किया है। वीडियो में उन्होंने कहा कि जीएसटी यूपीए का आइडिया था। एक टैक्स, कम से कम टैक्स, साधारण और सरल टैक्स। एनडीए का जीएसटी बिल्कुल अलग है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था मुद्दे पर एक और वीडियो जारी कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “GDP में ऐतिहासिक गिरावट का एक और बड़ा कारण है- मोदी सरकार का गब्बर सिंह टैक्स। इससे बहुत कुछ बर्बाद हुआ जैसे- लाखों छोटे व्यापार, करोड़ों नौकरियां और युवाओं का भविष्य। राज्यों की आर्थिक स्थिति। जीएसटी मतलब आर्थिक सर्वनाश। अधिक जानने के लिए मेरा वीडियो देखें।”

उन्होंने वीडियो जारी कर कहा कि असंगठित अर्थव्यवस्था पर दूसरा बड़ा आक्रमण जीएसटी है। उन्होंने कहा, “जीएसटी यूपीए का आइडिया था। एक टैक्स, कम से कम टैक्स, साधारण और सरल टैक्स। एनडीए का जीएसटी बिल्कुल अलग है। चार अलग-अलग टैक्स 28% तक टैक्स और बड़ा कॉन्प्लिकेटेड, समझने को बहुत मुश्किल टैक्स।”

वीडियो में आगे कहा, “जो स्मॉल एंड मीडियम बिजनेसेस है, वह इस टैक्स को भर ही नहीं सकते। पर जो बड़ी कंपनियां है वो इसको आसानी से भर सकती हैं। 5-10-15 अकाउंटेंट्स लगा सकती हैं। यह चार अलग-अलग रेट क्यों है? यह चार अलग-अलग रेट इसलिए है क्योंकि सरकार चाहती है कि जिसकी पहुंच हो, जीएसटी को आसानी से बदल पाए और जिसकी पहुंच ना हो वो जीएसटी के बारे में कुछ ना कर पाए।”

उन्होंने आगे कहा, “पहुंच किसकी है। हिंदुस्तान के सबसे बड़े 15-20 उद्योगपतियों की पहुंच है। तो जो भी टैक्स का कानून वह बदलना चाहते हैं, इस जीएसटी रेजीम में बदल सकते हैं और एनडीए के जीएसटी का नतीजा क्या है? आज हिंदुस्तान की सरकार स्टेट्स को जीएसटी का पैसा ही नहीं दे पा रही। प्रदेश एंप्लॉयस को, टीचर्स को पैसा नहीं दे पा रहे हैं।”

उन्होंने आगे कहा, जीएसटी बिल्कुल फेल है। मगर यह सिर्फ फेल नहीं है. यह एक आक्रमण है गरीबों पर, स्मॉल एंड मीडियम बिजनेस पर। जीएसटी टैक्स की व्यवस्था नहीं है। जीएसटी हिंदुस्तान के गरीबों पर आक्रमण है। छोटे दुकानदार, स्मॉल एंड मीडियम बिजनेस वालों पर, किसान और मजदूरों पर आक्रमण है। हमें इस आक्रमण को पहचानना पड़ेगा और मिलकर एक-साथ इसके खिलाफ हम सब को खड़ा होना पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें: देश में 24 घंटे में कोरोना के 90 हजार से ज्यादा नए केस, 1065 लोगों की मौत, कुल संक्रमित 41 लाख के पार

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 06 Sep 2020, 11:00 AM
लोकप्रिय