सेना प्रमुख नरवणे बोले- LAC पर फॉरवर्ड क्षेत्रों में चीन ने बढ़ाई तैनाती, हमारे लिए ये चिंता की बात

सेना प्रमुख ने कहा कि मिल रहे इनपुट के आधार पर हम भी उसी तुलना में इन्फ्रास्ट्रक्चर और जवानों की तैनाती कर रहे हैं, ताकि किसी भी तरह के खतरे से तुरंत निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि इस समय हम किसी भी तरह की चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पूर्वी लद्दाख में चीन की गतिविधियों को लेकर सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि पूर्वी लद्दाख और हमारी ईस्टर्न कमांड के पास उत्तरी फ्रंट पर भारी संख्या में चीनी सैनिक तैनात हैं। सेना प्रमुख ने कहा, “सीमा पर चीनी सैनिकों की बढ़ती तैनाती निश्चित तौर पर हमारे लिए चिंता का विषय है। हम हर गतिविधि पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

सेना प्रमुख ने कहा कि मिल रहे इनपुट के आधार पर हम भी उसी तुलना में इन्फ्रास्ट्रक्चर और जवानों की तैनाती कर रहे हैं, ताकि किसी भी तरह के खतरे से तुरंत निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि इस समय हम किसी भी तरह की चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। सेना प्रमुख ने उम्मीद जताई है कि इस महीने दोनों देश किसी समाधान पर निकल सकते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले छह महीने से हालात काफी सामान्य हैं। हम अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में दोनों देश के बीच 13वें दौर की बातचीत की उम्मीद कर रहे हैं। इस बैठक में गतिरोध खत्म करने को लेकर बात होगी।


सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन की घटनाओं पर भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि फरवरी से लेकर जून के अंत तक पाकिस्तान की ओर से कोई भी उल्लंघन नहीं हुआ। उन्होंने बता कि इसके बाद से लगातार घुसपैठ की घटनाएं बढ़ती चली गईं हैं। सेना प्रमुख के मुताबिक, बीते 10 दिनों में दो बार पाक की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया जा चुका है। स्थिति एक बार फिर से फरवरी से पहले जैसी होती जा रही है।

लेह में आयोजित कार्यक्रम में सेना प्रमुख शामिल हुए। लेह में दुनिया का सबसे बड़ा हाथ से बना खादी का तिरंगा लहराया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia