लखीमपुर खीरी हिंसा: 'मंत्री के बेटे को साफ रखने का तरीका ढूंढ रही पुलिस, इसलिए अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी'

कांग्रेस ने गुरुवार को लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में दोषियों को गिरफ्तार करने में विफल रहने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला किया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस ने गुरुवार को लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में दोषियों को गिरफ्तार करने में विफल रहने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला किया। कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, "हैशटेग लखीमपुर खीरी हत्याकांड में न्याय को किसी भी समिति को सौंपने में देरी नहीं की जानी चाहिए, आईपीसी का पालन किया जाना चाहिए (एससी द्वारा निगरानी) वीडियो में पहचाने जाने वाले व्यक्तियों की गिरफ्तारी, चार्जशीट और फिर जल्द से जल्द सजा देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बेतुके प्रयास परिवारवालों के जख्मों पर नमक ही छिड़केंगे।


उन्होंने कहा कि वीडियो में अपराधी स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं और अभी तक अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि शायद पुलिस मंत्री के बेटे को साफ रखने का तरीका ढूंढ रही है और इसलिए सं™ोय अपराध में अभी तक गिरफ्तारियां नहीं की गई हैं।


उत्तर प्रदेश सरकार ने 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा की जांच के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश प्रदीप कुमार श्रीवास्तव को नियुक्त किया है, जिसमें नौ लोगों की जान चली गई थी। न्यायिक आयोग का कार्यालय लखीमपुर खीरी में होगा और इसे दो महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट देनी होगी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia