राम विलास पासवान की बेटी ने पिता के खिलाफ खोला मोर्चा, बोलीं- ‘अंगूठा छाप’ वाले बयान पर राबड़ी देवी से मांगें माफी

आशा पासवान ने कहा कि राम विलास पासवान ‘अंगूठा छाप’ वाले अपने बयान के लिए राबड़ी देवी से माफी मांगें। उन्होंने कहा कि मेरे पिता को अपने शब्द वापस लेने चाहिए। उन्होंने कहा कि पासवान ने राबड़ी देवी का अपमान किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री राम विालस पासवान की बेटी आशा पासवान ने अपने पिता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। राम विलास पासवान द्वारा बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को ‘अंगूठा छाप’ कहने से नाराज आशा पासवान ने पटना में धरना दिया। आशा पासवान ने पोस्टर और बैनर थामे दर्जनों महिलाओं के साथ पटना हवाईअड्डे के पास लोक जनशक्ति पार्टी कार्यालय के सामने धरना दिया और नारेबाजी की।

आशा पासवान ने कहा कि राम विलास पासवान अपने बयान के लिए राबड़ी देवी से माफी मांगें। उन्होंने कहा, "मेरे पिता को अपने शब्द वापस लेने चाहिए।" इससे पहले आशा पासवान ने अपने पिता पर राष्ट्रीय जनता दल नेता और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी का अपमान करने का आरोप लगाया।

आशा पासवान अपने पिता और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान की पहली पत्नी राजकुमारी देवी की बेटी हैं। आशा पासवान के पति अनिल साधु आरजेडी नेता हैं और लालू प्रसाद के बेटे तेजस्वी यादव के करीबी माने जाते हैं।

गौरतलब है कि राम विलास पासवान ने राबड़ी देवी का नाम लिए बिना आरजेडी पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि आरजेडी बस नारेबाजी करने और 'अंगूठा छाप' को मुख्यमंत्री बनाने में विश्वास रखता है। उनके इस बयान पर बवाल खड़ा हो गया है। जहां पासवान के बयान पर उनकी बेटी ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, वहीं दूसरे दलों के नेताओं ने भी राम विलास पासवान के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है और कहा है कि पासवान को ऐसे बयान नहीं देने चाहिए।

लोकप्रिय