ज्ञानवापी परिसर में ASI सर्वे जारी, आज सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई, सर्वे पर इलाहाबाद HC के फैसले को दी गई है चुनौती

इलाहालबाद हाईकोर्ट ने को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में एएसआई को वैज्ञानिक सर्वेक्षण जारी रखने की इजाजत दी थी।

ज्ञानवापी परिसर में सर्वे जारी, आज सुप्रीम कोर्ट में भी होगी सुनवाई।
ज्ञानवापी परिसर में सर्वे जारी, आज सुप्रीम कोर्ट में भी होगी सुनवाई।
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में वैज्ञानिक सर्वेक्षण का काम जारी है। सुबह से ASI की एक टीम ज्ञानवापी परिसर में वैज्ञानिक सर्वेक्षण कर रही है। इस बीच ज्ञानवापी परिसर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। बड़ी सख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है। ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के ASI सर्वेक्षण पर हिंदू पक्ष का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील सुभाष नंदन चतुर्वेदी ने कहा कि सभी लोग (ASI अधिकारियों समेत) वहां पहुंच गए हैं। सर्वे  का काम जारी है। हम भी अंदर भी जाएंगे।

इलाहालबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में एएसआई को वैज्ञानिक सर्वेक्षण जारी रखने की इजाजत दी थी। अपने आदेश में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अंजुमन इंतेज़ामिया मस्जिद समिति द्वारा दायर याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें वाराणसी जिला अदालत द्वारा पारित आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण को मस्जिद परिसर के बैरिकेड क्षेत्र का सर्वेक्षण करने का निर्देश दिया गया था।


सुप्रीम कोर्ट वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद की प्रबंधन समिति द्वारा इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ दायर याचिका पर आज सुनवाई करेगा। याचिका में कहा गया है कि एएसआई 'वुजू खाना' को छोड़कर पूरे मस्जिद परिसर का सर्वेक्षण कर सकता है।

चीफ जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस जे बी पारदीवाला और जस्टिस मनोज मिश्रा की पीठ संविधान के अनुच्छेद 136 के तहत अंजुमन इंतजामिया मस्जिद समिति द्वारा वाराणसी अदालत के समक्ष दायर हिंदू उपासक के मुकदमे की स्थिरता को बरकरार रखने वाले इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली एक अन्य याचिका पर भी सुनवाई करेगी।

चीफ जस्टिस चंद्रचूड़ ने गुरुवार को मस्जिद समिति की ओर से पेश वकील निज़ाम पाशा द्वारा मामले को तत्काल सूचीबद्ध करने का उल्लेख करने के बाद मामले को सूचीबद्ध करने पर विचार करने पर सहमति जताई थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;