हालात

मोदी सरकार में नहीं थम रहा दलितों पर अत्याचार, पुणे में दबंग भट्टा मालिक ने मजदूर को जबरन खिलाया मानव मल

महाराष्ट्र के पुणे में पुलिस ने एक दलित को जबरन मानव मल खिलाने के आरोप में एक ईंट भट्टा मालिक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी को जिले के मुल्शी तालुका के जम्भे गांव से अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया है।

फोटो: सोशल मीडिया 

नवजीवन डेस्क

देश में दलितों पर अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला महाराष्ट्र के पुणे जिले का है। जहां एक दलित को जबरन मानव मल खिलाने के आरोप में एक ईंट भट्टा मालिक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी को अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया है।

खबरों के मुताबिक, पीड़ित मजदूर सुनील पावले ने जम्भे गांव निवासी संदीप पवार के खिलाफ हिंजेवाड़ी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। बताया रहा है कि संदीप पवार मराठा समुदाय से संबंध रखता है। अपनी शिकायत में सुनील पावले ने बताया कि घटना 13 मार्च, 2019 को दोपहर करीब दो बजे की है। वह और उसके पिता अनिल, मां सविता और दादा-दादी दोपहर का खाना खाने के बाद ईंट भट्टा पर बैठे थे। इसी दौरान पवार वहां पहुंचा और उनसे अपना काम शुरू करने को कहा।

सुनील पावले ने आगे बताया कि उसने मालिक को सिर्फ इतना कहा था कि, उन लोगों बस खाना खत्म किया है और कुछ देर में वो अपना काम शुरू कर देंगे। इस बात से भट्टा मालिक नाराज हो गए और गुस्से में मेरी और मेरे पिता की पिटाई कर दी। उसने हमें बहुत गंदी भाषा में गालियां दीं।

उन्होंने आगे बताया कि बात इतनी आगे बढ़ गई कि भट्टा मालिक जबरन बंदूक के बल पर उसे मानव मल खिलाया। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पीड़ित ने बताया, “जब ये सब हुआ तो भट्टा पर काम करने वाले कई मजदूर खड़े थे लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। घटना के बाद मैं बहुत डर गया। इसलिए मैंने वहां से काम छोड़ दिया और परिवार के साथ अपने रिश्तेदार के यहां चल गए।”

पुलिस ने आरोपी की शिनाख्त जम्भे गांव निवासी संदीप पवार के रूप में की है, जो मराठा समुदाय से संबंध रखता है। हालांकि संदीप पवार और उसके परिवार के सदस्यों ने आरोप से इनकार किया है। वहीं सुनील पावले का परिवार मूल रूप से उस्मानाबाद से संबंध रखता है, अब यह परिवार सालों से पुणे में रह रहा है।

Published: 16 Mar 2019, 11:10 AM
लोकप्रिय