कोरोना कहर शांत होते ही दिल्ली में डेंगू-मलेरिया का हमला, अकेले डेंगू के मिले 97 मामलों ने बढ़ाई चिंता

दिल्ली नगर निगम की ताजा रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक हफ्ते में डेंगू के 15, मलेरिया के 9 तो चिकनगुनिया के 3 मामले सामने आए हैं। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम क्षेत्र में मच्छर जनित बीमारियों का सबसे ज्यादा फैलाव देखने को मिल रहा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में कोरोना वायरस के कहर के थमते ही बढ़ती बारिश के कारण मच्छरजनित बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। पिछले एक हफ्ते में मच्छरजनित बीमारियों के 27 मरीज सामने आए हैं। वहीं, इस साल अब तक डेंगू के कुल मरीजों का आंकड़ा 97 है, तो वहीं मलेरिया के 45 और चिकनगुनिया के 26 मरीज हो गए हैं।

दिल्ली नगर निगम की ताजा रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक हफ्ते में डेंगू के 15, मलेरिया के 9 तो चिकनगुनिया के 3 मामले सामने आए हैं। रिपोट के अनुसार, दक्षिणी दिल्ली निगम क्षेत्र में मच्छर जनित बीमारियों का सबसे ज्यादा फैलाव देखने को मिल रहा। डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के कुल मरीजों में से अधिक्तर मरीज दक्षिणी निगम क्षेत्र से हैं।

डेंगू के कुल 97 मरीजों में दक्षिणी निगम क्षेत्र में 33 मरीज सामने आए हैं। इसके अलावा उत्तरी निगम क्षेत्र में 10 और पूर्वी निगम क्षेत्र में 12 मरीजों के मामले दर्ज किए गए हैं। हालांकि, नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) क्षेत्र में 5, दिल्ली कैंट में 1 मरीज तो वहीं 36 मरीजों के पते की पुष्टि नहीं हो सकी है।


साथ ही मलेरिया के कुल 45 मरीजों में से दक्षिणी निगम क्षेत्र में 13 मरीज हैं। पूर्वी निगम में 9 मरीजों और उत्तरी निगम क्षेत्र में 8 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। जबकि 15 मरीजों के पते की पुष्टि नहीं हुई है। इसके अलावा चिकगुनिया के कुल 26 मरीजों में से 8 मरीज दक्षिणी निगम क्षेत्र से हैं। उत्तरी निगम क्षेत्र से 3 और पूर्वी निगम में 1 मरीज की पुष्टि हुई है। एनडीएमसी क्षेत्र से एक मरीज सामने आ चुका है। इसमें भी 13 मरीजों के पते की पुष्टि नहीं हुई है।

इस बार दिल्ली में बारिश तेज होने के कारण दक्षिणी, उत्तरी और पूर्वी नगर निगमों में मच्छरों की ब्रीडिंग मिलने पर चालान किया जा रहा है तो वहीं कई लोगों को लीगल नोटिस भी जारी किये जा चुके हैं। यदि इसके बाद भी किसी घर में डेंगू या मलेरिया मच्छरों की ब्रीडिंग पाई जाती है, तो उसके खिलाफ निगम के अधिकारियों ने एफआईआर दर्ज कराने की चेतावनी दी हुई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia