'राम के नाम पर हुआ घोटाला, पीएम चुप', प्रियंका ने कहा- चंदे का दुरुपयोग अधर्म, आस्था का अपमान

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बन रहा राम मंदिर विवादों के घेरे में आ गया है। समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी की ओर से आरोप लगाया गया है कि राम मंदिर के लिए ज़मीन खरीद के नाम पर करोड़ों रुपये को घोटाला हुआ है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बन रहा राम मंदिर विवादों के घेरे में आ गया है। समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी की ओर से आरोप लगाया गया है कि राम मंदिर के लिए ज़मीन खरीद के नाम पर करोड़ों रुपये को घोटाला हुआ है। रविवार को हुए इस खुलासे के बाद से ही आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है और उत्तर प्रदेश की सियासत में उबाल आ गया है। जिसके बाद कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। वहीं कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने इसे पाप और आस्था का अपमान बताया है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'करोड़ों लोगों ने आस्था और भक्ति के चलते भगवान के चरणों में चढ़ावा चढ़ाया। उस चंदे का दुरुपयोग अधर्म है, पाप है, उनकी आस्था का अपमान है।'

उधर कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि आस्था का सौदा करना पाप है। भगवान राम आस्था का प्रतीक हैं। बीजेपी ने भवगान के चरित्र से कुछ नही सीखा, राम मंदिर चंदे में घोटाला किया गया है। आखिर पीएम चुप क्यों हैं। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि प्रधानमंत्री उपरोक्त सवालों का देश को जवाब दें और देश के मुख्य न्यायाधीश और सुप्रीम कोर्ट पूरे मामले का संज्ञान लेकर सुप्रीम कोर्ट मॉनिटर्ड जांच करवाएं।


कांग्रेस नेता ने कहा कि ट्रस्ट ने रवि मोहन तिवारी और सुल्तान अंसारी से जमीन खरीदने के लिए स्टांप ड्यूटी पहले ही जमा करवा दी थी, वो भी तब, जब न तो ये दोनों जमीन के मालिक थे और न ही उन्होंने जमीन खरीद की स्टांप ड्यूटी जमा करवा ई-स्टांप सर्टिफिकेट लिया था। तथाकथित तौर से यह भी बताया जा रहा है कि श्री रवि मोहन तिवारी, जिन्होंने 2 करोड़ की जमीन 5 मिनट में 18.5 करोड़ में राम मंदिर ट्रस्ट को बेच डाली, वह श्री ऋषिकेश उपाध्याय के रिश्तेदार हैं। उन्होंने कहा कि इससे यह साफ पता चलता है कि करोड़ों लोगों द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए दान राशि में घोर महापाप, अधर्म और घोटाला हुआ है। लेकिन प्रधानमंत्री जी, जिन्होंने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों पर ट्रस्ट का गठन किया, पूरी तरह से चुप हैं।

गौरतलब है कि रविवार को आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह और अयोध्या से समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक पवन पांडे ने आरोप लगाया कि मंदिर परिसर के लिए खरीदी गई जमीन की डील में गड़बड़ी हुई है। ट्रस्ट ने 2 करोड़ रुपये की जमीन का समझौता सिर्फ 10 मिनट के अंदर ही साढ़े 18 करोड़ रुपये में कर दिया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 14 Jun 2021, 4:01 PM