खराब मौसम, नीचे घने जंगल, जब सेना के सेवक एयरबेस पर ममता बनर्जी के हेलीकॉप्टर की करनी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंग

सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री को ले जा रहे हेलीकॉप्टर के उड़ान भरने के तुरंत बाद आसमान में बादल छाने और भारी बारिश के साथ तेज हवा चलने के कारण उसे अनिश्चित परिस्थितियों का सामना करना पड़ा।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ले जा रहे हेलीकॉप्टर को उड़ान भरने के तुरंत बाद सिलीगुड़ी के पास सेना के सेवक एयरबेस पर इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी। मुख्यमंत्री ने मंगलवार दोपहर जलपाईगुड़ी में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित किया। इसके बाद उनके निजी सुरक्षा अधिकारी और एक मुंशी को लेकर हेलीकॉप्टर जलपाईगुड़ी के क्रांति हेलीपैड से दार्जिलिंग जिले के बागडोगरा हवाई अड्डे के लिए उड़ान भरा।

मुख्यमंत्री को मंगलवार को सिलीगुड़ी में रात्रि प्रवास करना था और सुबह बागडोगरा से कोलकाता के लिए उड़ान भरनी थी। सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री को ले जा रहे हेलीकॉप्टर के उड़ान भरने के तुरंत बाद आसमान में बादल छाने और भारी बारिश के साथ तेज हवा चलने के कारण उसे अनिश्चित परिस्थितियों का सामना करना पड़ा।


यह पता चला है कि हेलीकॉप्टर को उतारने के लिए सही जगह ढूंढने की कोशिश में पायलट को कोई जानकारी नहीं थी। नीचे बैकुंठपुर के घने जंगल ने परेशानी और बढ़ा दी। 

हालांकि, सौभाग्य से उसी समय सशस्त्र बलों का एयरबेस उनकी नज़र में आया। उन्होंने तुरंत एयरबेस अधिकारियों से संपर्क किया और वहां हेलीकॉप्टर की लैंडिंग कराई। लैंडिंग सुरक्षित थी और कोई भी यात्री घायल नहीं हुआ।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;