बांदा रेप केस: वीडियो शेयर कर प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, कहा- ये तो असंवेदनशीलता की हद है

बांदा रेप केस का जिक्र करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि ये तो असंवेदनशीलता की हद है। इससे साफ है कि बीजेपी सरकार महिला विरोधी है। बलात्कार पीड़ित लड़की से बलात्कार के दो गवाह मांगने की यह कौन सी मांग है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

योगी सरकार में हालात यह है कि अगर बच्चियों की रेप हो जाती है तो पुलिस उनकी सुनवाई तभी करेगी, जब रेप पीड़िता अपनी गवाही के लिए दो लोगों को लेकर आएगी। मामला उत्तर प्रदेश के बांदा जिले का है। इस असंवेदनशील रवैए को लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “ ये तो असंवेदनशीलता की हद है। इससे साफ है कि भाजपा सरकार महिला विरोधी है। बलात्कार पीड़ित लड़की से बलात्कार के दो गवाह मांगने की यह कौन सी मांग है। यह आश्चर्य की बात है कि बांदा पुलिस केस दर्ज करने की जगह पीड़िता से 2 गवाह लाने को बोल रही है।”

दरअसल, यूपी के बांदा में एक नाबालिग के साथ तमंचे की नोक पर रेप करने की घटना सामने आई है। नाबालिग का आरोप है कि एक महीने पहले आरोपी ने उसके साथ छेड़छाड़ की थी। उसकी शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। कुछ दिन पहले वह जेल से छूटकर बाहर आया था।

नाबालिग लड़की का आरोप है कि बुधवार देर रात जब उसकी मां दुकान पर गई थी, तभी आरोपी शराब के नशे में घर में घुस गया और लड़की के साथ रेप किया। आरोपी ने पीड़िता को यह भी धमकी दी कि किसी को इस संबंध में न बताए। जब पीड़िता ने इसकी शिकायत थाना प्रभारी से की तो मटौध थाना प्रभारी निरीक्षक ने किशोरी को दो गवाह लेकर आने के बाद मुकदमा दर्ज करने की बात कही। पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराना भी जरूरी नहीं समझा और कथित तौर पर थाने से भगा दिया।

लोकप्रिय