आपके हाथ आया है 200 या 2000 का कटा-फटा नोट, तो नहीं बदलेगा बैंक, मोदी सरकार ने अभी तक नहीं बनाया है कानून

मोदी सरकार ने रिजर्व बैंक एक्ट के उस नियम में 200 और 2000 रुपए के नोट के लिए अभी तक वह बदलाव नहीं किया है, जिसके तहत कटे-फटे नोट बदलना बैंकों की जिम्मेदारी होती है। ऐसी स्थिति में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

एटीएम या बैंक से पैसे निकालते वक्त अगर आपके हाथ में 2000 या 200 रुपए का कोई कटा-फटा नोट आता है, तो होशियार हो जाइए। बैंक यह नोट बदलने को बाध्य नहीं है। बैंक काउंटर पर तो आप हाथों-हाथ कैशियर से नोट बदलके  ले सकते हैं, लेकिन अगर एटीएम से निकला है कटा-फटा इन दो में से कोई नोट तो आपको परेशान होना पड़ेगा। दरअसल कारण है रिजर्व बैंक का एक नियम, जिसके मुताबिक बैंक कोई भी फटा-पुराना नोट बदल देते हैं। लेकिन 2000 और 200 रुपए के नोट पर यह नियम लागू नहीं होता है, क्योंकि इस बारे में रिजर्व बैंक के लिखित अनुरोध के बावजूद मोदी सरकार ने इस बारे में ग्रीन सिग्नल नहीं दिया है।

इस समय देश में 5, 10, 20, 50, 100, 200, 500 और 2000 रुपए के नोट चलन में हैं। लेकिन रिजर्व बैंक एक्ट के नियम 28 के मुताबिक सिर्फ केवल 5, 10, 50, 100, 500, 1000, 5000 और 10000 हजार के पुराने और कटे-फटे नोटों को ही बदला जा सकता है। हालांकि 1000, 5000 और 10000 के नोट चलन से बाहर हैं, और 200 और 2000 रुपये के नोट इस नियम के दायरे में नहीं हैं। इसलिए अगर आपके हाथ में इन दोनों में से कोई भी कटा-फटा नोट आता है, तो बैंक उन्हें बैंक नहीं बदलेगा।

गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ने पहले ही कहा था नए जारी किए गए नोटों पर किसी तरह की लिखावट या फिर कटने-फटने पर वापस नहीं होगें। नोटबंदी के बाद आरबीआई ने 2000 का नोट जारी किया था। वहीं अगस्त 2017 में बैंक ने 200 रुपये का नोट निकाला था।

इस समय कुल करेंसी में से 2000 के करीब 6.70 लाख रुपये के नोट चलन में हैं और खबरें है कि रिजर्व बैंक ने इन नोटों की छपाई भी बंद कर दी है। इसके अलावा 10 और 50 रुपये के करेंसी नोटों के डिजाइन में भी बदलाव किया है। इससे अगर कोई व्यक्ति इन नोटों के कट-फट जाने या फिर लिखने से खराब हो जाने के बाद बैंकों में बदलने के लिए जाता है, तो फिर फिलहाल इनको नहीं बदला जाएगा। रिजर्व बैंक का कहना है कि उसने आरबीआई एक्ट में बदलाव के लिए केंद्र सरकार से लिखित अनुरोध कर दिया है, लेकिन इस बारे में अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।

कई बार खबरें सामने आती है कि एटीएम से ही नए 500, 200 और 2000 रुपये के खराब नोट निकल रहे हैं। इन नोटों को भी बैंक बदल नहीं रहे हैं, जिससे आम लोगों को फिलहाल परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। हालांकि, जिन एटीएम पर बैंकों ने गार्ड तैनात कर रखे हैं, वहां पर इस बारे में लोग लिखित तौर पर शिकायत दर्ज करा देते हैं, जिसके बाद उनके नोट को बैंक बदल देता है। लेकिन ऐसे एटीएम जहां कोई गार्ड नहीं है, उससे निकले कटे-फेट नोट को बदलने में बैंक आनाकानी कर रहे हैं।

लोकप्रिय